नमस्कार दोस्तों ! शिमला शहर के हजारों ग्राहकों को डुप्लीकेट राशन कार्ड निकालने के लिए अब बाजारों के

चक्कर नहीं काटने पड़ेंगे। ग्राहक अपने मोबाइल पर राशनकार्ड की फोटो लेकर उससे भी डिपो से राशन

ले सकते हैं। राशनकार्ड खो जाने पर बाजारों में 70 से 80 रुपये खर्च करने के बाद राशनकार्ड निकालने को

लेकर पैसे खर्च करने की जरूरत नहीं है।

यह भी पढ़ें :Reliance Jio ने एक महीने बढ़ाया Diwali ऑफर, ग्राहकों को होगा डबल फायदा

ग्राहक प्ले स्टोर में जाकर ईपीडीएस की ऐप डाउनलोड कर राशनकार्ड की कॉपी कर सकते हैं डाउनलोड

इसके बाद इसी कॉपी की द्वारा वह राशन भी प्राप्त कर सकते हैं।

डिपो में लगी पॉस मशीन पर राशनकार्ड की कॉपी स्कैन करने के बाद पूरे परिवार के व्यक्ति के अंगुठे का

निशान मैच कर राशन देने की प्रक्रिया पूरी की जाती है। शहर में 31 हजार के करीब राशनकार्ड धारक ग्राहक

हैं। विभाग की ओर से सभी परिवारों को एटीएम कार्ड की तरह नए राशनकार्ड बनाकर दिए हैं। मौजूदा समय

में कुछ लोगों के राशनकार्ड गुम हो गए हैं।

यह भी पढ़ें :Aadhar Card में बिना डॉक्यूमेंट के भी करा सकते हैं ये बदलाव

खाद्य महकमे के पास रोजाना इस तरह की शिकायतें लेकर लोग पहुंच रहे हैं। लोगों को यहां से बाजार

भेजा जा रहा है। कहा जा रहा है कि लोकमित्र केंद्रों पर जाकर डुप्लीकेटराशनकार्ड निकल लें लेकिन

इसकी एवज में ग्राहकों से 70 से 80 रुपये तक वसूले जाते हैं जबकि यह कार्य महजपांच से दस रुपये का

है। बुधवार को भी इसी तरह की शिकायत लेकर एक व्यक्ति विभाग के पास पहुंचा।

उन्होंने बताया कि डिपो संचालक ने राशन की एंट्री करने को लेकर सभी ग्राहकों के राशनकार्ड लिए थे।

कार्ड लेने गए तो कहा कि उनका कार्ड उसके पास नहीं है। विभाग के अधिकारी अब लोकमित्र केंद्र

जाने की हिदायत दे रहे हैं।

यह भी पढ़ें :पैन कार्ड खो गया या ख़राब गया ऐसे दुबारा प्राप्त करो देने है 50 रूपये सरकार भेजेगी घर

 ईपीडीएस ऐप ऐसे करें डाउनलोड 

जिला नियंत्रक खाद्य आपूर्ति एवं ग्राहक मामले श्रवण कुमार हिमालयन ने बताया कि ग्राहक प्ले स्टोर में

जाकर मोबाइल पर ईपीडीएस ऐप डाउनलोड करें। इस ऐप पर आधारकार्ड की जानकारी देने के बाद

राशनकार्ड की कॉपी स्क्रीन पर आ जाएगी। इस कॉपी को उपभोक्ता अपने फोन पर डाउनलोड कर लें।

इसके बाद ग्राहक डिपो में लगी पॉस मशीन पर राशन की इस फोटो को स्कैन करवाकर राशन ले सकते हैं।

राशन लेने के लिए संबंधित परिवार के अंगुठे का निशान भी लिया जाता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here