What is Mutual funds जानें फ़ायदे और निवेश का सही तरीका

What Is Mutual Fund म्यूचुअल फण्ड क्या है ?

म्यूचुअल फंड को पारस्परिक/सामूहिक निधि अथवा फण्ड के नाम से भी जाना जाता है ! What Is Mutual Fund शेयर की ही तरह यह भी एक वित्तीय प्रतिभूति है जिसमें कि निवेशकों द्वारा निवेश किया जाता है ! क्योंकी यह एक प्रकार का सामूहिक निवेश होता है ! सभी निवेशक इसमें निवेशकों का पैसा एक जगह जमा किया जाता है ! और फिर इस फंड से फिर बाज़ार में निवेश करना स्टार्ट किया जाता है !

म्यूचुअल फंड को एसेट मैनेजमेंट कंपनियों (AMC) द्वारा मैनेज किया जाता है ! प्रत्येक AMC में आमतौर पर कई म्यूचुअल फंड स्कीम होती हैं ! निवेशक अपनी सुविधा पसंद और जोखिम उठाने की क्षमता के अनुसार अपनी पसंद की स्कीम को चुन सकते हैं ! निवेशकों को म्यूच्युअल फण्ड शेयर बाजार के साथ-साथ कई अन्य तरह के निवेश के अवसर भी देता है !

अगर कोई निवेशक म्यूचुअल फण्ड की डेब्ट केटेगरी के अंतर्गत अगर कोई निवेशक निवेश करता है ! तो उसका पैसा सरकारी और निजी क्षेत्र की कंपनियों में लगाया जाता है ! म्यूचुअल फण्ड की डेब्ट केटेगरी के अंतर्गत किया गया निवेश बेंकों की तरह ही सुरक्षित माना जाता है! यहाँ आपका पैसा डूबने और नुकसान होने के चांसेस न के बराबर होते हैं !आयकर में छूट भी म्यूचुअल फण्ड के माध्यम से निवेशकों को प्राप्त हो जाती है ! निवेश के स्मार्ट तरीके के रूप में म्यूचुअल फण्ड को जाना जाता है !

सभी निवेशक अपनी रिस्क लेने की क्षमताओं के अनुसार म्यूचुअल फण्ड में निवेश करके बेहतर मुनाफा कमा सकते हैं ! SIP यानी की प्रत्येक माह निवेश का विकल्प म्यूचुअल फण्ड में लोगों को बेहतर मुनाफा देता है ! म्यूचुअल फण्ड के माध्यम से निवेशकों का पैसा अलग अलग कंपनियों में और अलग अलग शेयर और बाउंड के माध्यम से इन्वेस्ट किया जाता है !

यह भी पढ़ें – us stock market me invest kaise kare : जानें पूरा प्रोसेस

Benefits Of Investing In Mutual Fund म्यूचुअल फण्ड में निवेश के लाभ :

Investment based on risk appetite : आपके द्वारा रिस्क लेने की क्षमता के आधार पर आप अपने लिए म्यूचुअल फण्ड का चयन कर सकते हैं ! कई ऐसे फंड्स हैं जो की हाई रिस्क वाले भी हैं जबकि कुछ में यह रिस्क मध्यम प्रकार का होता है ! और कुछ म्यूचुअल फण्ड में ये रिस्क न के बराबर होता है ! अपनी सुविधा सुरक्षा और चयन के आधार पर निवेश करने विकल्प म्यूचुअल फण्ड आपको उपलब्ध कराता है !

Income Tax Relaxation : आयकर अधिनियम की धारा 80 C के अनुसार म्यूचुअल फण्ड इन्वेस्टमेंट इनकम टैक्स में 1.50 लाख तक की बचत कराता है ! अगर आपके द्वारा Tax Saving Mutual Funds में इन्वेस्ट किया जाता है तभी आप इस छूट को प्राप्त कर सकते हैं ! ध्यान रहे सभी म्यूचुअल फंड्स टैक्स में छूट प्रदान नहीं करते !

Easy Management : मैनेजमेंट के मामले में म्यूचुअल फण्ड काफी सुविधा प्रदान करने वाला माना जाता है ! किसी भी दिन और किसी भी समय आप म्यूचुअल फण्ड ख़रीद अथवा बेच सकते हैं ! जबकि सरकार और बैंक द्वारा जारी किये जाने वाले निवेश के अन्य विकल्पों जैसे कि फिक्स्ड डिपोजिट, पी.पी.एफ, बीमा को आप सिर्फ वर्किंग दिनों के अंतर्गत ही ख़रीद अथवा बेच सकते हैं !

Transparency : Securities and Exchange Board of India द्वारा म्यूचुअल फण्ड इन्वेस्टमेंट को नियंत्रित एवं रेगुलेट किया जाता है ! इसके साथ ही साथ म्यूचुअल फण्ड की Net Assets Value यानी की कीमतों की घोषणा प्रतिदिन के हिसाब से की जाती है ! पोर्टफोलियो के अनुसार भी हर महीने इसका अनाउंसमेंट किया जाता है !

wpDataTable with provided ID not found!

Benefits Investing In Mutual Fund म्यूचुअल फण्ड निवेश के अन्य लाभ :

Less Fees Ratio : इसके अंतर्गत आपका एक्सपेंस रेशियो आपके द्वारा निवेश किये गए कुल इन्वेस्टमेंट का 1.5 से लगाकर 2.5 प्रतिशत तक ही होता है जो कि काफी कम है ! आपके द्वारा यह शुल्क आपके लिए फण्ड का मैनेजमेंट करने वाली एजेंसीज को चुकाया जाता है जो कि आपके म्यूचुअल फण्ड को मैनेज करने का काम करती हैं !

Money Safety : कुछ सावधानियों को ध्यान में रखते हुए अगर आप म्यूचुअल फण्ड में निवेश करते हैं तो जोखिम न के बराबर होता है ! आपका सारा पैसा अलग अलग क्षेत्रों में विभाजित रहता है जिससे कि अगर किसी क्षेत्र से आपको नुकसान मिला है ! तो बाकि अन्य क्षेत्रों के माध्यम से उस नुकसान की भरपाई होती रहती है ! इस प्रकार से आपका पैसा इसमें डूबने नहीं पाता है !

Higher returns : डायरेक्ट मोड में किये गए म्यूचुअल फंड्स इन्वेस्टमेंट में निवेशकों की लागत कम होती है ! क्योंकि इसमें कोई डिस्ट्रीब्यूटर शामिल नहीं होता है ! तो अंडरलाइंग पोर्टफोलियो में अधिक फंड का निवेश किया जाता है ! इससे लंबी अवधि में निवेशकों को बेहतर रिटर्न मिलता है! नियमित निवेश की तुलना में इसकी डायरेक्ट स्कीम में निवेशकों को 1-1.5% ज्यादा रिटर्न देखने को मिलता है !

Easy Investment : वर्तमान में म्यूचुअल फण्ड में निवेश करना काफी आसान और सुविधाजनक हो गया है ! ग्रो और IND money जैसी एप्लीकेशनस फ्री में ही आपको ट्रेडिंग की सारी सुविधाएं उपलब्ध करा रही हैं जो कि सेबी द्वारा ट्रस्टेड एप्लीकेशन हैं इनकी सहायता से आप बिना किसी को मध्यस्थता शुल्क दिए फ्री में ही शेयर इक्विटी और म्यूचुअल फण्ड में अपना पैसा इन्वेस्ट कर सकते हैं !

नोट – म्यूचुअल फण्ड निवेश बाजार जोखिमों के अधीन है इसलिए निवेश सोच समझकर और बाजार की सही जानकारी होने पर ही किया जाना चाहिए ! यद्यपि SEBI द्वारा म्यूचुअल फण्ड को संचालित एवं नियंत्रित किया जाता है ! जिससे कि धोखा धडी वाली कंपनियों के फ्रॉड से लोगों के पैसे को सुरक्षित किया जा सके !

Top 10 Mutual Funds Names According 2021 – 2022 :

  1. Axis Bluechip Fund
  2. Mirae Asset Large Cap Fund
  3. Parag Parikh Long Term Equity Fund
  4. UTI Flexi Cap Fund
  5. Axis Midcap Fund
  6. Kotak Emerging Equity Fund
  7. Axis Small Cap Fund
  8. SBI Small Cap Fund
  9. SBI Equity Hybrid Fund
  10. Mirae Asset Hybrid Equity Fund

Start Investing In Mutual Fund Through Groww App :

What Is Mutual Fund How Can We Invest In Mutual Fund
What Is Mutual Fund How Can We Invest In Mutual Fund

वर्तमान में स्टॉक मार्केट म्यूचुअल फण्ड इन्वेस्टमेंट काफी आसान हो गया है ! अब आप बड़ी ही आसानी से कुछ ही सेकेंड्स के अंदर अपना डीमैट अकाउंट खोलकर ट्रेडिंग शुरू कर सकते हैं ! और राष्ट्रीय एवं अंतर्राष्ट्रीय स्टॉक मार्केट में अपना पैसा इन्वेस्ट कर सकते हैं !

बहुत सारी एप्लीकेशनस आपको ये सुविधा देती हैं कि आप म्यूचुअल फण्ड ट्रेडिंग को अब बड़ी ही आसानी से शुरू कर सकते हैं ! बैंक और मोबाइल एप्लीकेशनस जैसे कि Groww, Zerodha, ETmoney, Paytm Money, CAMS, Karvy, HDFC & ICICI इत्यादि द्वारा आप म्यूचुअल फण्ड इन्वेस्टमेंट स्टार्ट कर सकते हैं !

Mutual Fund Investment Process Through Groww App :

  • सबसे पहले आप ग्रो एप्लीकेशन को अपने स्मार्ट फोन में इंस्टाल करें !
  • एप्लीकेशन इंस्टाल हो जाने के बाद आप म्यूचुअल फण्ड ट्रेडिंग के लिए तैयार हैं ! अब आप अपने म्यूचुअल फण्ड को ब्रोकर्स से ऑटोइम्पोर्ट कर सकते हैं !
  • ऑटो CAS यानी कि कंबाइंड अकाउंट स्टेटमेंट जनरेट करने की सुविधा भी आपको यहाँ से मिल जाती है !
  • रेगुलर से डायरेक्ट मोड में आप अपने म्यूचुअल फंड्स को यहाँ से स्विच करके 1.50% तक का हायर रिटर्न यहाँ से प्राप्त कर सकते हैं ! स्विचइंग का आपसे कोई अतिरिक्त चार्ज नहीं लिया जाता है !
  • हजारों की तादात में कमीशन फ्री म्यूचुअल फण्ड जैसे कि ICICI Prudential, HDFC, NIPPON India, Axis, PPFAS,! Aditya Birla & Mirae आपको यहाँ पर देखने को मिल जाते हैं ! जिन्हें आप ख़रीद सकते हैं ! इसके लिए आपको कोई भी ब्रोकरेज शुल्क अथवा फ़ीस पे नहीं करनी होती है !
  • डायरेक्ट इन्वेस्टिंग म्यूचुअल फण्ड कैटगरीज के म्यूचुअल फण्ड जैसे कि इंडेक्स फंड, लार्ज-कैप, मिड-कैप, मल्टी-कैप, आर्बिट्रेज फंड, डेट और टैक्स सेविंग फंड जैसी श्रेणियों में सीधे म्यूचुअल फंड में एकमुश्त, व्यवस्थित निवेश योजना (एसआईपी), सिस्टमेटिक ट्रांसफर प्लान (एसटीपी), इत्यादि में आप सिस्टमेटिक माध्यम से निवेश कर सकते हैं !
  • इसके साथ ही साथ आप सिस्टमेटिक निकासी योजना एस.डब्ल्यू.पी. के तहत अपने रिटर्न की ! व्यवस्थित निकासी भी कर सकते हैं !
  • रिडीमिंग के मामले में यह एप्लीकेशन आपके लिए सबसे बेस्ट है आप ! सिंगल क्लिक से ही अपने फंड्स को यहाँ से रिडीम कर सकते हैं !
  • ट्रांजेकशनस टाइप जैसे कि Lumpsum, SIP, STP को आप ट्रांजेकशनस कंट्रोल पैनल से कंट्रोल कर सकते हैं !

म्यूचुअल फण्ड इन्वेस्टमेंट में सावधानियाँ :

निवेश का यह बाजार जोखिमों के अधीन होता है आपके द्वारा स्टॉक्स म्यूचुअल फण्ड में निवेश तभी किया जाना चाहिए! जब आपको बाजार अर्थव्यवस्था और वैश्विक परिस्थितियों की समझ हो ! लम्बी अवधि के निवेश के लिए म्यूचुअल फण्ड इन्वेस्टमेंट को जाना जाता है ! अगर आप कम समय में निवेश करके अधिक कमाने की सोच रहे हैं तो आप तो म्यूचुअल फण्ड आपके आपके लिए उपयुक्त माध्यम नहीं है ! चयन काफी मायने रखता है कि आप किस प्रकार के म्यूचुअल फण्ड में आप निवेश कर रहे हैं !

छोटी राशि से निवेश स्टार्ट किया जाए अथवा बड़ी राशि से यह मायने नहीं रखता है ! बल्कि निवेश लम्बे समय के लिए किया जाए यह अधिक मायने रखता है ! डिविडेंट के लालच में गलत स्कीम में पैसा लगाने से बिलकुल बचना चाहिए ! डिविडेंट आपका खुद का ही पैसा होता है ! एन.ए.वी. किस रेट से बढ़ रही है यह अधिक मायने रखता है ! एसेट मेनेजर कंपनी का चयन भी बेहद सावधानी के साथ किया जाना चाहिए ! रणनीति और सुनियोजित तरीके से किया गया निवेश फायदेमंद साबित होता है ! एक्सपेंस रेशियो पर भी नजर रखिये कम एक्सपेंस रेशियो वाली स्कीम को ज्यादा अच्छा माना जा सकता है !

wpDataTable with provided ID not found!

How Can Start Investing In Mutual Fund :

What is Mutual funds FAQs :

प्रश्न 1. म्यूचुअल फण्ड के अंतर्गत किस प्रकार के फण्ड में अधिक जोखिम होता है ?

उत्तर. म्यूचुअल फण्ड के अंतर्गत इक्विटी फण्ड को ज्यादा जोखिम वाला माना जाता है ! इसके अंतर्गत मिड और स्माल कैप केटेगरी के फंड्स को रखा जा सकता है !

प्रश्न 2. म्यूचुअल फण्ड के अंतर्गत किस प्रकार के फण्ड में मध्यम जोखिम होता है ?

उत्तर. म्यूचुअल फण्ड के अंतर्गत हाइब्रिड फण्ड को मध्यम जोखिम वाला माना जाता है !

प्रश्न 3. म्यूचुअल फण्ड के अंतर्गत किस प्रकार के फण्ड को सबसे कम जोखिम वाला माना जाता है ?

उत्तर. म्यूचुअल फण्ड के अंतर्गत डेब्ट केटेगरी के फण्ड को सबसे कम जोखिम वाला माना जाता है ! डेब्ट फण्ड के अंतर्गत निवेशक का पैसा सरकारी और निजी क्षेत्र की विश्वसनीय कंपनियों में ही लगाया जाता है !

प्रश्न 4. क्या म्यूचुअल फण्ड के माध्यम से सारा पैसा किसी एक कंपनी में ही लगाया जाता है ?

उत्तर. नहीं ऐसा नहीं है म्यूचुअल फण्ड निवेश का पैसा अलग अलग कंपनियों के अलग अलग शेयर और बांड में इन्वेस्ट किया जाता है !

प्रश्न 5. भारत में अच्छा रिटर्न देने वाले 5 म्यूचुअल फण्ड के नाम क्या हैं ?

उत्तर. भारत में अच्छा रिटर्न देने वाले 5 म्यूचुअल फण्ड के नाम

What is Mutual funds FAQs :

प्रश्न 6. Tax Saving Mutual Funds में निवेश आकर में छूट देता है अथवा नहीं ?

उत्तर. Tax Saving Mutual Funds में इन्वेस्टमेंट आयकर अधिनियम की धारा 80 C के अंतर्गत 1.50 लाख तक टैक्स में छूट प्रदान कराता है !

प्रश्न 7. Tax Saving Mutual Funds में कितने साल का लॉकिंग पीरियड होता है ?

उत्तर. टैक्स सेविंग म्यूचुअल फण्ड में 3 साल का लॉकिंग पीरियड होता है !

प्रश्न 8. म्यूचुअल फंड के अंतर्गत न्यूनतम निवेश कितना कर सकते हैं ?

उत्तर. म्यूचुअल फण्ड में न्यूनतम निवेश 500 रूपये से शुरू हो जाता है !

प्रश्न 9. ग्रो एप्लीकेशन की सहायता से आप म्यूचुअल फण्ड इन्वेस्टमेंट फ्री ई- बुक डाउनलोड कर सकते हैं ?

उत्तर. जी हाँ ग्रो एप्लीकेशन आपको इन्वेस्टमेंट पर फ्री ई- बुक डाउनलोड करने की सुविधा देता है !

प्रश्न 10. म्यूचुअल फंड रिटर्न की गणना कैसे की जाती हैं ?

उत्तर: म्यूचुअल फंड स्कीम टोटल बेनिफिट का कैलकुलेशन (कुल लाभ / मूल निवेश) x 100 द्वारा किया जाता है !

What is Mutual funds FAQs :

प्रश्न 11. क्या म्यूचुअल फण्ड मंथली SIP इन्वेस्टमेंट से करोड़ों का लाभ कमाया जा सकता है ?

उत्तर. जी हाँ बिलकुल म्यूचुअल फण्ड SIP के जरिये निश्चित अंतराल पर किये जाने वाले निवेश से करोड़ों का रिटर्न प्राप्त किया जा सकता है !

प्रश्न 12. क्या म्यूचुअल फण्ड के अंतर्गत ग्रोथ प्लान डिविडेंट प्लान से बेहतर रिटर्न देता है ?

उत्तर. जी हाँ म्यूचुअल फण्ड के अंतर्गत ग्रोथ प्लान को डिविडेंट प्लान से बेहतर रिटर्न देने के लिए जाना जाता है!

प्रश्न 13. क्या डीमैट अकाउंट खोले बिना म्यूचुअल फण्ड इन्वेस्टमेंट स्टार्ट किया जा सकता है ?

उत्तर. जी हाँ वर्तमान में ग्रो जैसी एप्लीकेशनस की सहायता से आप बिना अपना डीमैट अकाउंट ओपन किये ही म्यूचुअल फण्ड में इन्वेस्टमेंट स्टार्ट कर सकते हैं !

प्रश्न 14. म्यूचुअल फण्ड एप्लीकेशन ग्रो की अधिक जानकारी कैसे मिलेगी ?

उत्तर. ग्रो एप्लीकेशन की अधिक जानकारी के लिए दिए गए लिंक पर क्लिक करें – Click Here

प्रश्न 15. म्यूचुअल फण्ड पोर्टफोलियो क्या होता है ?

उत्तर. म्यूचुअल फण्ड पोर्टफोलियो म्यूचुअल फण्ड का एक समूह होता है ! पोर्टफोलियो आपके निवेश के लक्ष्य की पूर्ति में सहायक होता है ! आपका सारा रिटर्न आपके पोर्टफोलियो पर टिका होता है न कि आपके किसी एक विशेष फण्ड पर !

What is Mutual funds FAQs :

प्रश्न 16. SIP का फुल फॉर्म क्या है ?

उत्तर. SIP का फुल फॉर्म सिस्टेमेटिक इन्वेस्टमेंट फण्ड है !

प्रश्न 17. म्यूचुअल फण्ड में सबसे महत्वपूर्ण रोल किसका होता है ?

उत्तर. म्यूचुअल फण्ड में सबसे महत्वपूर्ण रोल फण्ड मेनेजर का होता है !ऐसी स्कीम जिसमें फण्ड मेनेजर का बदलाव जल्दी जल्दी हो रहा हो ! उस स्कीम में पैसा लगाने से बचना चाहिए !