Indiaक्‍या होता है लॉक डाउन और क्यों करते हैं...

क्‍या होता है लॉक डाउन और क्यों करते हैं किन-किन राज्यों में लागू है और कब रहेगा ये

-

कोरोना वायरस से निपटने और संक्रमण फैलने से रोकने के लिए केंद्र सरकार ने राज्य सरकारों को उन 75 जिलों को लॉक डाउन के निर्देश जारी करने को कहा है जिनमें पॉजीटिव केस आए हैं।

यहां आपातकालीन सेवाओं को छोड़कर सभी सेवाओं पर रोक लगा दी गई है। राजस्‍थान में सबसे पहले लॉक डाउन लागू किया गया। उसके बाद पंजाब और उत्‍तराखंड में लॉक डाउन करने की घोषणा कर दी गई। इसके बाद दिल्‍ली में भी सोमवार सुबह छह बजे से लॉक डाउन का ऐलान कर दिया गया।

लॉकडाउन के दौरान कोई भी ट्रेन नहीं चलेगी। साथ ही मेट्रो का परिचालन भी सीमित होगा। यूपी के 17 जिलों में 23 से 31 मार्च तक लॉकडाउन घोषित किया गया है, जिसमें नोएडा, गाजियाबाद, प्रयागराज, कानपुर, सहारनपुर, लखीमपुर, आजमगढ़, वाराणसी, लखनऊ, बरेली, मुरादाबाद बाराबंकी,सीतापुर शामिल हैं।

यह होता है लॉक डाउन

दोस्तों लॉकडाउन एक आपदा व्यवस्था है जो किसी आपदा या एपिडेमिक स्थिति के वक्त सरकारी तौर पर लागू की जाती है । लॉक डाउन में उस क्षेत्र के लोगों को घरों से बाहर निकलने की अनुमति नहीं होती है ।

उन्हे सिर्फ दवा और अनाज जैसी जरूरी चीजों के लिए ही बाहर आने की इजाजत मिलती है । इस दौरान वे बैंक से पैसे निकालने भी जा सकते हैं ।

इसे भी पढ़े आयुष्मान भारत योजना के तहत कोरोना वायरस के मरीजों को भी मिलेगा मुफ्त इलाज

राजस्थान के इतिहास में पहली बार लॉक डाउन हुआ है । दुनिया में सबसे पहला लॉक डाउन अमेरिका में 9/ 11 हमले के बाद किया गया था । यह एक एमरजेंसी व्यवस्था है ।

सीधे शब्दों में लॉकडाउन’ का अर्थ है तालाबंदी. जिस तरह किसी संस्थान या फैक्ट्री को बंद किया जाता है और वहां तालाबंदी हो जाती है उसी तरह लॉक डाउन का अर्थ है कि आप अनावश्यक कार्य के लिए सड़कों पर ना निकलें।

किसी तरह की परेशानी हो तो लोग संबंधित पुलिस थाने,जिला कलेक्टर,पुलिस अधीक्षक अथवा अन्य उच्च अधिकारी को फोन कर सकते हैं ।

क्यों करते हैं लॉक डाउन?

किसी तरह के खतरे से इंसान और किसी इलाके को बचाने के लिए लॉकडाउन किया जाता है।
जैसे कोरोना के संक्रमण को लेकर कई देशों में किया गया है। कोरोनावायरस का संक्रमण
एक-दूसरे इंसान में न हो इसके लिए जरूरी है कि लोग घरों से बाहर कम निकले।

बाहर निकलने की स्थिति में संक्रमण का खतरा बढ़ जाएगा। इसलिए कुछ देशों में लॉकडाउन
जैसी स्थिति हो गई है।

किन देशों में है लॉक डाउन?

चीन, डेनमार्क, अल सलवाडोर, फ्रांस, आयरलैंड, इटली, न्यूजीलैंड, पोलैंड और स्पेन में लॉकडाउन जैसी स्थिति है। चूंकि चीन में ही सबसे पहले कोरोनावायरस संक्रमण का मामला सामने आया था, इसलिए सबसे पहले वहां लॉकडाउन किया गया। इटली में मामला गंभीर होने के बाद वहां के प्रधानमंत्री ने पूरे देश को लॉकडाउन कर दिया। उसके बाद स्पेन और फ्रांस ने भी कोरोना संक्रमण रोकने के लिए यही कदम उठाया।

लॉक डाउन राज्यों व शहरो की सूची 

1. Andhra Pradesh: Prakasam, Vijaywada, Vizag

2. Chandigarh: Chandigarh

3. Chhattisgarh: Raipur

4. Delhi: Central, East Delhi, North Delhi, North West Delhi, North East Delhi, South Delhi, West Delhi

5. Gujarat: Kutchh, Rajkot, Gandhinagar, Surat, Vadodara, Ahmedabad

6. Haryana: Faridabad, Sonepat, Panchkula, Panipat, Gurugram

7. Himachal Pradesh: Kangra

8. UT of Jammu and Kashmir: Srinagar, Jammu

9. Karnataka: Bangalore, Chikkaballapura, Mysore, Kodagu, Kalaburgi

10. Kerala: Alappuzha, Ernakulam, Iduki, Kannur, Kasargod, Kottayam, Mallapuram, Pathanamthitta, Thiruvanthpuram, Thrissur

11. UT of Ladakh: Kargil, Leh

12. Madhya Pradesh: Jabalpur

13. Maharashtra: Ahmednagar, Aurangabad, Mumbai, Mumbai Suburb, Pune, Ratnagiri, Raigad, Thane, Yavatmal

14. Odisha: Khurda

15. Puducherry: Mahe

16. Punjab: Hoshiarpur, SAS Nagar, SBS Nagar

17. Rajasthan: Bilwara, Jhunjhunu, Sikar, Jaipur

18. Tamil Nadu: Chennai, Erode, Kanchipurum

19. Telangana: Bhadradri Kothagudam, Hyderabad, Medchai, Ranga Reddy, Sangareddy

20. Uttar Pradesh: Agra, GB Nagar, Ghaziabad, Varanasi, Lakhimpur Kheri, Lucknow,Moradabad,Jaunpur,Bareilly,Azamgarh, Meerut, Gorakhpur, Saharanpur, Pilibhit,and Sitapur

21. Uttarakhand: Dehradun

22. West Bengal: Kolkata, North 24 Parganas

कब-कब हुआ लॉक डाउन?

अमेरिका में 9/11 के आतंकी हमले के बाद वहां तीन दिन का लॉकडाउन किया गया था। दिसंबर 2005 में न्यू साउथ वेल्स पुलिस फोर्स ने दंगा रोकने के लिए लॉकडाउन किया था। * 19 अप्रैल, 2013 को बोस्टन शहर को आतंकियों की खोज के लिए लॉकडाउन कर दिया गया था। * नवंबर 2015 में पैरिस हमले के बाद संदिग्धों को पकड़ने के लिए साल 2015 में ब्रुसेल्स में पूरे शहर को लॉकडाउन किया गया था।

सरकारी आदेश में यह कहा गया है

चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव द्वारा जारी आदेश में कहा गया है
कि सरकारी और गैर सरकारी कार्यालय,सभी तरह के वाहन पूरी तरह से बंद रहेंगे ।
डेढ़ दर्जन कार्यालय खोले जाएंगे । इनमें चिकित्सा,चिकित्सा शिक्षा,गृह, वित्त, कार्मिक,
जिला प्रशासन,बिजली, पानी, परिवहन, स्वायत्तशासन,खाघ,आपदा प्रबंधन,पंचायती
राज,सूचना एवं जनसंपर्क,आईटी,सामान्य प्रशासन,मोटर गैराज और विधि शामिल है ।
इस दौरान सरकारी कार्यालय में आम लोगों का प्रवेश पूरी तरह से बंद रहेगा ।

ये सभी सेवाएँ रहेंगी बंद 

1.सभी नागरिक आपातकालीन स्थिति को छोड़कर अपने घरों में बंद रहेंगे।
2.सार्वजनिक परिवहन आपातकालीन व जरूरी सेवाओं को छोड़कर पूरी तरह बंद रहेगा।
3.सभी वाणिज्यिक प्रतिष्ठान, दुकानें, शैक्षणिक संस्थान, निजी प्रतिष्ठान, रेस्टोरेंट, होटल आदि बंद रहेंगे।
4.विदेश से आने वाले नागरिकों की निगरानी की जाएगी। उन्हें होम कोरनटाइन में रखना होगा।
5.सोशल डिस्टेंसिंग गाइड लाइन का करें पालन।
6.टैक्सी, आटो-रिक्शा के संचालन समेत किसी भी सार्वजनिक परिवहन सेवाओं की अनुमति नहीं दी जाएगी।
7.सभी दुकानें, ‌वाणिज्यिक प्रतिष्ठान, कार्यालय व कारखाने, कार्यशालाएं व गोदाम बंद रहेंगे।
8.सार्वजनिक स्थल पर पांच से ज्यादा लोग जुटने पर धारा-144 के तहत कार्रवाई की जाएगी।

क्या क्या खुला रहेगा लॉकडाउन में 

1.दवा की दुकानें, किराने का सामान, होमडिलीवरी का ई-कामर्स।
2.दैनिक वस्तुओं की आपूर्ति।
3.स्वास्थ्य सेवाएं।
4.समाचार पत्र एवं इलेक्ट्रानिक मीडिया।
5.अस्पताल, हवाई अड्डे, रेलवे स्टेशन, बस स्टैंड, टर्मिनलों, खाद्य एवं आवश्यक वस्तुओं को ले जाने वाले 6.मालवाहक के सभी प्रकार के परिवहन पर छूट होगी।
7.बिजली पानी से संबंधित कार्यालय एवं बिलिंग सेंटर।
8.अग्नि नागरिक सुरक्षा और आपातकालीन सेवाएं।
9.ताजे फल एवं सब्जियों की आपूर्ति एवं पेय पदार्थों की आपूर्ति।
10.पशुओं के लिए चारे की आपूर्ति खुली रहेंगी।
11.खाद्य प्रसंस्करण से जुड़ी इकाइयां खुली रहेंगी।
12.पेट्रोल पंप व सीएनजी पंप खुलें रहेंगे।
13.दूध एवं डेयरी प्लांट, स्वास्थ्य उपकरण से जुड़ी निर्माण इकाइयां।
14.बैंक एवं एटीएम, बीमा कंपनियां, दूरसंचार सेवा प्रदाता एवं अन्य संचार सेवाएं।
15.पोस्ट आफिस, गेहूं व चावल से जुड़ा आवागमन पर।
16.आवश्यक वस्तुओं व सेवाओं से जुड़ी सेवाएं व संबंधित कार्य।

फैक्ट्री मालिको को मजदूरों को वेतन सहित अवकाश देने के निर्देश दिए गए हैं ।

Dial 1929 to avail help during lockdown

ऐसी ही ताज़ा न्यूज़ अपडेट के लिए जुड़े रहे sarkaridna.com के साथ और अधिक जानकरी आप हमारे

youtube video देख सकते है विडियो देखने के लिए नीचे दिए  youtube आइकॉन पर क्लिक करे

sarkaridna Youtube

 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest news

अब ऑनलाइन ऐसे करें अपने कोविड-19 वैक्सीनेशन सर्टिफिकेट संशोधन

0
अगर आपने कोरोना वैक्सीन लगवाने के लिए रजिस्ट्रेशन के दौरान अपना नाम, जन्मतिथि या कोई जानकारी गलत लिख दी है,और आप सोच रहे हैं...

कन्या सुमंगला योजना के तहत लड़की को मिलते हैं 15 हजार...

0
Kanya Sumangala Yojana – यूपी कन्या सुमंगला योजना 2020 यूपी कन्या सुमंगला योजना | Apply Online, Application Form |Kanya Sumangala Yojana | UP Kanya Sumangala...

Must read

आयुष्मान भारत 2021 में नाम कैसे जोड़ें जाने पूरी प्रक्रिया :

देश के 10 करोड़ 74 लाख परिवारों को मुफ्त...

मोबाइल से कैसे देखे Ayushman Bharat Yojana List 2019 में अपना नाम

Ayushman Bharat Yojana List 2019 में एसे देखे अपना...

You might also likeRELATED
Recommended to you

DMCA.com Protection Status