Friday, May 20, 2022
HomeInvestmentSovereign Gold Bond Scheme गोल्ड में निवेश का बेस्ट तरीका

Sovereign Gold Bond Scheme गोल्ड में निवेश का बेस्ट तरीका

What Is Sovereign Gold Bond Scheme 2022-23:

भारत सरकार एवं भारतीय रिज़र्व बैंक द्वारा गोल्ड मुद्रीकरण योजना के तहत नवम्बर 2015 में भारतीय निवेशकों के लिए Sovereign Gold Bond Scheme की शुरुआत की गयी थी ! रिज़र्व बैंक की रेगुलर देख रेख में निवेश की इस स्कीम को संचालित एवं सुनियोजित किया जाता है ! सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड एक तरह का सरकारी बांड होता है साथ ही इस गोल्ड योजना की RBI द्वारा जारी किया जाता है !

इस सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड निवेश योजना के तहत किसी भी व्यक्ति द्वारा एक वित्तीय वर्ष में अधिकतम निवेश 4kg सोने के बराबर मूल्य के बांड्स खरीदे जा सकते हैं ! जबकि ट्रस्ट और संस्थाओं द्वारा अधिकतम निवेश सीमा 20 kg प्रति वर्ष है! निवेशकों द्वारा खरीदे गए बांड्स की अवधि 8 वर्ष की होती है ! लेकिन 5 वें, 6 ठवें, 7वें साल में ब्याज भुगतान की तिथियों के आधार पर योजना से बाहर निकला जा सकता है !

बात अगर खरीदारी की की जाए तो निवेशक Stock Holding Corporation Of India Limited (SHCIL)! के अलावा पोस्ट ऑफिस और मान्यता प्राप्त स्टॉक एक्सचेंजों (Stock Exchanges), NSE और BSE के माध्यम से! Sovereign Gold Bond को खरीद सकते हैं! बता दें स्माल फाइनेंस बैंक और पेमेंट बैंक द्वारा सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड की बिक्री नहीं की जाती है! सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड का लॉकइंग पीरियड 5 वर्ष का होता है ! इससे पहले अगर आप इसे भुनाते हैं तो आपको अतरिक्त टैक्स देना पड़ता है !

यह भी पढ़ें – us stock market me invest kaise kare : जानें पूरा प्रोसेस

Benefits Of Sovereign Gold Bond

आम तौर पर निवेश की सभी योजनायें और स्कीम्स निवेशकों को लाभ प्रदान करने वाली होती हैं ! यह निवेशक पर निर्भर करता है कि वह किस तरह की निवेश योजना में निवेश करना चाहता है क्योंकी सभी निवेश योजनाओं के अपने अलग-अलग प्रकार के लाभ होते हैं ! यहाँ पर हम आपको सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड में निवेश करने के प्रमुख लाभ के बारे में बताने जा रहे हैं जिससे कि आप भी इस गोल्ड स्कीम को समझकर इसमें निवेश करने के लाभ प्राप्त कर सकें –

Sovereign Gold Bond Scheme
Sovereign Gold Bond Scheme

Stepwise Benefits Of Sovereign Gold Bond Investment :

  • निवेश की इस योजना के तहत निवेशक न्यूनतम 1 ग्राम सोने से मूल्य के बराबर की ! धनराशि का गोल्ड बांड खरीदकर सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड स्कीम में निवेश प्रारम्भ कर सकते हैं !
  • प्रतिवर्ष एक व्यक्ति द्वारा अधिकतम निवेश 4 kg सोने के मूल्य के बराबर के गोल्ड बांड्स की ख़रीद की जा सकती है! इसके अलावा ट्रस्ट अथवा संस्था के लिए यह सीमा 20 kg प्रतिवर्ष है !
  • निवेशकों को सांकेतिक मूल्य पर 2.50 प्रतिशत प्रतिवर्ष की तय दर पर ब्याज दिया जाता है ! यह अर्ध-वार्षिक आधार पर देय होता है !
  • सोने के मूल्यों में अगर वृद्धि होती है तो बढ़े हुए मूल्य का लाभ भी आपको मिलता है यह !आपके निवेश पर मिलने वाले 2.5 % ब्याज को मिलाकर आपको मिलने वाले रिटर्न को बढ़ा देता है !
  • यहाँ पर सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड स्कीम के तहत निवेश के लिए आपको गोल्ड को फिजिकली स्टोर करने का! झंझट नहीं रहता है क्योंकी यह एक वित्तीय प्रतिभूति के रूप में होता है !
  • हर सार 2.5 प्रतिशत की दर से एक निश्चित बजाय निवेशक को प्राप्त होता रहता है इसके अलावा गोल्ड! की कीमतों में हुई वृद्धि को भी इसमें जोड़ा जाता है जो की लॉन्ग टर्म में निवेशक को ज्यादा फायदा देता है !
  • जब आप कोई सोने की ज्वैलरी खरीदते हैं तो आपको मेकिंग चार्जेस और GST देना पड़ता है !लेकिन SGB के तहत आपसे किसी भी प्रकार का कोई अतरिक्त चार्ज नहीं लिया जाता है !

Sovereign Gold Bond Scheme Overview 2022 - 23

Sovereign Gold Bond Scheme Overview 2022 - 23
योजना का नाम सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड स्कीम
योजना का संचालन भारतीय रिज़र्व बैंक द्वारा किया जाता है !
योजना की शुरुआत वर्ष 2015
न्यूनतम निवेश 1 ग्राम सोने के बराबर गोल्ड बांड की ख़रीद के साथ शुरू किया जा सकता है !
अधिकतम निवेश प्रतिव्यक्ति अधिकतम निवेश - 4 kg प्रतिवर्ष ट्रस्ट अथवा संस्था द्वारा अधिकतम निवेश 20 kg प्रतिवर्ष
निवेश पर ब्याज निवेशकों को सांकेतिक मूल्य पर 2.50 प्रतिशत प्रतिवर्ष की तय दर पर ब्याज दिया जाता है, यह अर्ध-वार्षिक आधार पर देय होता है !
मेच्योरिटी पीरियड 8 साल
योजना से प्रीमेच्योर निकासी संभव 5 वें, छठवें, सातवें, वर्ष के दौरान
निवेश की अगली सीरीज की तिथि 28 फरवरी से 4 मार्च 2022 के मध्य दसवीं सीरीज के तहत निवेश के लिए आवेदन स्वीकार किये जायेंगे !

Sovereign Gold Bond Scheme की विशेषताएं :

  • बांड का भुगतान नकद (अधिकतम रु 20,000/ – तक) या डिमांड ड्राफ्ट या चेक या इलेक्ट्रॉनिक बैंकिंग के माध्यम से किया जाएगा !
  • सरकारी प्रतिभूति अधिनियम, 2006 के तहत सॉवरेन गोल्ड बांड्स को भारत सरकार के स्टॉक के रूप में जारी! किया जाता है निवेशकों को इस सम्बन्ध में होल्डिंग प्रमाणपत्र जारी किया जाता है !
  • डीमैट के रूप में सॉवरेन गोल्ड बांड्स को परिवर्तित किया जा सकता है! इसकी कुल अवधि 8 वर्ष की होती है !
  • इस निवेश स्कीम के तहत न्यूनतम स्वीकार्य निवेश सीमा 1 ग्राम सोने के मूल्य के बराबर खरीदा गया बांड है !
  • संयुक्त अथवा जॉइंट निवेश के मामले में 4 kg मूल्य तक निवेश सीमा केवल प्रथम आवेदक पर लागू होगी !
  • खरीदारी अथवा निवेश के लिए नयी सीरीज जारी करने से पहले RBI द्वारा के इश्यू मूल्य का विवरण देते हुए प्रेस विज्ञप्ति जारी की जाती है !
  • बॉन्ड का मूल्य भारतीय रुपयों में निर्धारित किया जाता है जो कि इंडियन बुलियन एंड ज्वैलर्स एसोसिएशन लिमिटेड (IBJA) द्वारा सप्ताह के अंतिम 3 व्यावसायिक दिनों के लिए प्रकाशित 999 शुद्धता वाले सोने के बंद भाव के साधारण औसत मूल्य के आधार पर होता है !
  • SGB के तहत मिलने वाला ब्याज टैक्सेबल होता है जिसे निवेशक को SGB भुनाते समय कटाना पड़ता है ! मेच्योरिटी पीरियड से पहले बांड्स को भुनाने पर अतरिक्त ब्याज देना पड़ता है !
  • ये बॉन्ड्स व्यक्ति के रूप में, या अवयस्क बच्चे की ओर से उसके माता पिता अभिभावक द्वारा अथवा किसी (अन्य व्यक्ति के साथ संयुक्त रूप से), HUF, ट्रस्ट, विश्वविद्यालय और संस्थानों सहित भारतीयों निवासियों तक ही बिक्री के लिए सीमित हैं !

Sovereign Gold Bond Scheme (SGB)

Sovereign Gold Bond Scheme (SGB) Issuing Series Under 2021-22
S.R No. Tranche Date of Subscription Date of Issuance of Bonds
1 2021-22 Series VII October 25–29, 2021 November 02, 2021
2 2021-22 Series VIIl November 29 –December 03, 2021 December 07, 2021
3 2021-22 Series IX January 10-14 , 2022 January 18, 2022
4 2021-22 Series X February 28 - March 04, 2022 March 08, 2022

Sovereign Gold Bond Scheme Investment Eligibility:

निवेशक भारत सरकार की स्वर्ण निवेश योजना Sovereign Gold Bonds के तहत निवेश कर सकते हैं! चाहे वह एकल व्यक्ति हो अथवा निवेशक अगर चाहें तो वह संयुक्त रूप से भी निवेश कर सकते हैं ! अवयस्क अर्थात नाबालिक की तरफ से उसके अभिभावक द्वारा भी Sovereign Gold Bonds में निवेश शुरू किया जा सकता है!

HUF द्वारा भी SGB के तहत निवेश स्वीकार्य हैं इसके अलावा ट्रस्ट विद्यालय संस्थानों को भी निवेश के अवसर उपलब्ध कराता है ! ऐसे निवेशक जिनके पास kyc डाक्यूमेंट्स आधार कार्ड पैन कार्ड कम्पलीट हैं ! वे लोग इस निवेश योजना में हिस्सा ले सकते हैं!

Sovereign Gold Bond Scheme Investment Process :

रिज़र्व बैंक द्वारा जारी किये जाने वाले Sovereign Gold Bonds में निवेश बैंकों और पोस्ट ऑफिस के माध्यम से किया जा सकता है ! रिज़र्व बैंक द्वारा SGB के तहत निवेश शुरू करने के लिए नयी सीरीज जारी की जाती रहती हैं !साथ ही साथ स्वर्ण निवेश योजना के सम्बन्ध में अधिसूचनाएं प्रेस विज्ञापन के माध्यम से भी जारी की जाती रहती हैं ! इसके अलावा निवेशक अगर चाहें तो वे लोग ऑनलाइन माध्यम से अपनी नेट बैंकिंग सेवा का इस्तेमाल करके भी Sovereign Gold Bonds में निवेश शुरू कर सकते हैं !

भारत सरकार/ रिज़र्व बैंक द्वारा सॉवरेन गोल्ड बांड्स में निवेश किश्तों के माध्यम से शुरू किया गया है! जिस सम्बन्ध में रिज़र्व बैंक द्वारा स्वर्ण निवेश योजना की सीरीज जारी की जाती रहती है ! सीरीज जारी किये जाने के बाद सीरीज की समाप्ति से पहले कोई भी निवेशक इस योजना के तहत !गोल्ड बांड्स खरीदकर निवेश शुरू कर सकता है ! इसका लाभ वे लोग उठा सकते हैं जो कि एक साथ इस स्वर्ण निवेश योजना में बड़ा निवेश नहीं कर सकते हैं !

ऐसे लोगों को सीरीज के माध्यम से निवेश में निरंतरता बनाए रखने का अवसर मिलता रहता है! जिससे कि वे थोडा थोडा करके अधिक गोल्ड इन्वेस्टमेंट कर पाते हैं ! वर्तमान में सॉवरेन गोल्ड बांड्स के तहत निवेश की सुविधा सभी प्रमुख बैंकों द्वारा उपलब्ध कराई जाती है !

SGB Investment Process. 

  • ऑनलाइन माध्यम से SGB के तहत गोल्ड इन्वेस्टमेंट शुरू करने के लिए सबसे पहले आपको अपने बैंक की! आधिकारिक वेबसाईट अथवा नेट बेंकिंग पोर्टल पर अपना यूज़र आई.डी पासवर्ड डालकर लॉग इन करना होगा !
  • लॉग इन हो जाने के बाद आपको गोल्ड इन्वेस्टमेंट के सेक्शन पर जाना होगा ! सेक्शन पर आपको Apply Know का विकल्प देखने को मिल जाएगा !
sovereign gold bond online investment process
sovereign gold bond online investment process
  • Apply Know पर क्लिक करते ही आप नेक्स्ट पेज पर रिडायरेक्ट हो जायेंगे यहाँ पर आपको अपनी! kyc डिटेल्स को फिल करना होगा !
  • kyc डिटेल्स को फिल करने के बाद आप कितने ग्राम गोल्ड बांड को इन्वेस्ट करना चाहते हैं! उसकी जानकारी आपको देनी होगी !
  • सभी जानकारियाँ देने के बाद आपको अपने द्वारा तय किये गए गोल्ड बांड में निवेश के लिए पेमेंट करना होगा !पेमेंट सक्सेसफुली हो जाने के बाद आपका बांड निवेश के लिए प्रोसीड कर दिया जाता है !
sgb-certificate-image
sgb-certificate-image
  • जिस दिन आपका बांड निवेश के लिए जारी किया जाता है उसी दिन आपके रजिस्टर्ड ई-मेल आई.डी. !पर निवेश के लिए खरीदे गए बांड का सर्टिफिकेट जारी कर दिया जाता है !
  • यह आपके द्वारा किये गए निवेश का प्रमाण होता है इसे के आधार पर आप अपने निवेश को !मेच्योरिटी पीरियड के पूरा होने के बाद भुनाते हैं !

Sovereign Gold Bond Scheme FAQs :

प्रश्न 1. गोल्ड बांड्स के लिए ओपनिंग और क्लोजिंग डेट का क्या मतलब होता है ?

उत्तर. गोल्ड बांड्स के लिए ओपनिंग और क्लोजिंग डेट का अर्थ इसके ख़रीद की प्रारम्भिक और अंतिम तारीख से होता है! ये तारीखें सरकार और रिज़र्व बैंक द्वारा निवेशकों के लिए जारी की जाती हैं ! इन तारीखों के मध्य निवेशक अगर चाहें तो वे गोल्ड बांड्स ख़रीद सकते हैं !

प्रश्न 2. क्या संयुक्त रूप से Sovereign Gold Bond Scheme के तहत गोल्ड खरीदा जा सकता है ?

उत्तर. हाँ संयुक्त यानी की जॉइंट रूप से भी आप इस गोल्ड स्कीम में निवेश कर सकते हैं !

प्रश्न 3. क्या अभिभावकों द्वारा नाबालिकों के नाम पर Sovereign Gold Bond Scheme में निवेश किया जा सकता है ?

उत्तर. हाँ इसके लिए बच्चे के माता पिता को बच्चे के नाम पर Sovereign Gold Bond Scheme के तहत निवेश के लिए आवेदन करना होगा !

प्रश्न 4. क्या Sovereign Gold Bond Scheme के तहत निवेशक लोन ले सकता है ?

उत्तर. जी हाँ अगर निवेशक चाहे तो Sovereign Gold Bond Scheme के तहत लोन भी ले सकता है ! इसके लिए उसे अपने द्वारा खरीदे गए सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड को गिरवी रखना होता है !

प्रश्न 5. क्या सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड स्टॉक एक्सचेंज पर ट्रेडबल होते हैं ?

उत्तर. जी हाँ सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड स्टॉक एक्सचेंजों पर ट्रेडबल होते हैं !मगर ऐसा इनके जारी होने के 15 दिनों के भीतर ही किया जा सकता है !

Sovereign Gold Bond Scheme FAQs :

प्रश्न 6. क्या गोल्ड ज्वैलरी की तरह सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड की ख़रीद पर मेकिंग चार्जे और जी.एस.टी देना पड़ेगा ?

उत्तर. नहीं सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड की ख़रीद पर किसी प्रकार का कोई अतिरिक्त शुल्क नहीं देना पड़ता है !इसके अलावा सरकार द्वारा गोल्ड बांड्स की ख़रीद पर विशेष छूट भी दी जाती है !

प्रश्न 7. स्कीम के तहत दसवीं सीरीज कब शुरू होगी ?

उत्तर. स्कीम के तहत दसवीं सीरीज के अंतर्गत निवेश के लिए आवेदन 28 फरवरी 2022 से 4 मार्च 2022 तक आवेदन स्वीकार किये जायेंगे !

प्रश्न 9. क्या निवेशक ऑनलाइन माध्यम से सॉवरेन गोल्ड बांड्स में निवेश कर सकते हैं ?

उत्तर. हाँ जिरोधा और ग्रो जैसी इन्वेस्टमेंट/ट्रेडिंग एप्लीकेशन ऑनलाइन माध्यम से Sovereign Gold Bond में निवेश की अनुमति देते हैं !

प्रश्न 10. सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड स्कीम के तहत होल्डिंग सर्टिफिकेट कब जारी किया जाता है ?

उत्तर. Sovereign Gold Bond Scheme के तहत होल्डिंग सर्टिफिकेट सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड जारी किये जाने की तिथि पर जारी किया जाता है ! रजिस्टर्ड ई-मेल के माध्यम से भी यह आपको प्राप्त हो जाता है !

प्रश्न 11. सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड स्कीम के तहत मेच्योरिटी पीरियड कितने वर्ष का होता है ?

उत्तर. Sovereign Gold Bond Scheme के तहत मेच्योरिटी पीरियड 8 वर्ष का होता है आवेदक अथवा निवेशक अगर चाहे तो वह इसे 5 वर्ष पूरे हो जाने के बाद 5 वें 6 ठवें और सातवें वर्ष में भी भुना सकता है!

प्रश्न 12. स्वर्ण गोल्ड बांड स्कीम की अधिक जानकारी कहाँ से प्राप्त की जा सकती है ?

उत्तर. स्वर्ण गोल्ड बांड स्कीम की अधिक जानकारी स्टेट बैंक ऑफ़ इंडिया की आधिकारिक वेबसाईट से प्राप्त की जा सकती है !

RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular