अब ग्रामीण उपभोक्ताओ को मिलेगी Rashan Card पोर्टेबिलिटी की सुविधा

दोस्तों शहरों के बाद अब ग्रामीण क्षेत्रों के उपभोताओं को भी अपने मनचाहे कोटे की दुकान से सामान लेने की

सुविधा प्रदान करने का फैसला लिया गया है ! इसे अगले महीने से प्रदेश के 5 जिलो लखनऊ ,श्रीवस्ती ,हापुड़

गौतमबुद्धनगर और बस्ती में पायलट प्रोजेक्ट के तौर पर लागु किया जायेगा ग्रामीण उपभोक्ताओ को मिलेगी

Rashan Card पोर्टेबिलिटी की सुविधा अगर प्रयोग सफल रहा तो इस व्यवस्था को पूरे प्रदेश में चालू

किया जायेगा !

यह भी पढ़े :प्रधानमंत्री ने एनआरआई को दिया तोहफ़ा तुरन्त मिलेगा आधार कार्ड

मनचाहे कोटे की दुकान  से ले सकेंगे राशन 

अपर आयुक्त खाद्य एवं रषद सुनील कुमार वर्मा ने कहा है कि सभी राशन कार्ड धारकों को समय से

राशन और मिट्टी का तेल मिल सके,इसके लिए राशन कार्ड पोर्टेबिलिटी की सुविधा चालू होने जा रही है !

इस योजना से अगर उपभोक्ता किसी दुकान दार से संतुस्ट नहीं है तो वह अपनी मनचाही दुकान से

सामान खरीद सकेगा ! पदेश के सभी शहरी क्षेत्रों में यह योजना 1 अगस्त से लागू की गयी थी !

यह भी पढ़े :Ananda Dairy के साथ चालू करें BUSINESS कमायें अच्छा खासा पैसा

इस योजना को पूरे देश में लागू करने की योजना 

किसी भी राज्य के व्यक्ति को दूसरे राज्य में भी राशन मिल सके। सबसे ज्यादा लाभ प्रवासी मजदूरों को होगा

जो रोजी-रोटी के लिए अपना घर बार छोड़ कर दूसरे राज्यों में नौकरी के लिए जाते हैं। आधार नंबर से

जुड़ जाने के बाद उपभोक्ताओं को राशन प्रणाली के तहत कहीं से भी राशन लेने की सुविधा देना संभव हो गया है।

यह योजना शहरी क्षेत्रों में चालू हो चुकी है सभी जिलों से रिपोर्ट आने के बाद अगले महीने से इसे

ग्रामीण क्षेत्रों में इसे लागू किया जायेगा !

राशन कार्ड आधार कार्ड से लिंक होना जरूरी

खाद्य आयुक्त ने बताया कि सभी जिला आपूर्ति अधिकारियों को निर्देश दिए गए हैं कि वह नगरीय क्षेत्रों के दुकानदारों

को इस प्रणाली के बारे में प्रशिक्षण देना शुरू कर दें ताकि उपभोक्ताओं को असुविधा न हो। उन्होंने स्पष्ट किया

कि इस सुविधा का लाभ लेने वाले परिवारों के राशन कार्ड लाभार्थी परिवार के किसी न किसी एक सदस्य के

आधार कार्ड से लिंक होना जरूरी है। जिन परिवारों के किसी भी सदस्य का आधार कार्ड लिंक नहीं है उसे इस

सुविधा का लाभ नहीं मिलेगा।

ऐसे उपभोक्ताओं को अपने संबंधित कोटेदार की दुकान से ही अनाज लेना होगा।

यह भी पढ़े :बैंक 400 जिलों में कैंप लगाकर बाटेंगे कर्ज

उत्तर प्रदेश का विवरण 

246 कोटेदार हैं जिले के शहरी क्षेत्र में

1676 कोटेदार है जिले के ग्रामीण क्षेत्र में

90.26 फीसदी राशन वितरण ग्रामीण क्षेत्र में आधार कार्ड के द्वारा

96 फीसदी राशन वितरण शहरी क्षेत्र में आधार कार्ड के द्वारा

दोस्तों ऐसी ही ताज़ा न्यूज़ अपडेट के लिए बने रहे sarkaridna.com के साथ और अधिक जानकारी के लिए आप हमारे कमेन्ट बॉक्स में कमेन्ट कर सकते और साथ ही हमारे फेसबुक पेज को फोलों करे

sarkaridna Youtube

Leave a Comment