latest newsPUC Certificate Important News : प्रदुषण सर्टिफिकेट सभी के...

PUC Certificate Important News : प्रदुषण सर्टिफिकेट सभी के लिए जरूरी

-

Pollution Ceretificate प्रदुषण सर्टिफिकेट अब सभी वाहनों (कार तथा मोटर बाइक) के लिए जरूरी कर दिया गया है | 2019 में नया व्हीकल एक्ट लागू होने के बाद से प्रदूषण प्रमाणपत्र सभी को बनवाना जरूरी हो गया है | यदि आप कोई भी गाड़ी चला रहे है | आपके पास प्रदूषण प्रमाण पत्र नही है, तो आपको कीमत चुकानी पड़ सकती है | तथा आपका चालान भी कट सकता है | इसलिए प्रत्येक गाडी वाहक के पास प्रदूषण प्रमाण पत्र होना बहुत जरूरी है | भारी संख्या में चालान कटने की घटनाए सामने आ रही हैं | इसका कारण यह है की हम ट्रैफिक की नियमो का पालन नही करते हैं | उसमें से प्रदूषण सर्टिफिकेट का होना भी जरूरी है |

What is Pollution Certificate(PUC); प्रदुषण सर्टिफिकेट क्या है :

दोस्तों प्रदुषण सर्टिफिकेट बनवाने से पहले हमे यह पता होना चाहिए की प्रदूषण सर्टिफिकेट होता क्या है |जो सरकार द्वारा जारी अनुमोदन का एक दस्तावेज है| जो आपके वाहन के उत्सर्जन स्तर दर्ज होने और उसके अनुपालन में पाए जाने पर आपके वाहन को प्रदान किया जाता है। इसका काम क्या होता है | इस सर्टिफिकेट का प्रयोग गाड़ियों के प्रदुषण की जांच करने हेतु किया जाता है | 2019 के पहले जिन लोगो ने गाड़ी खरीदी है उन लोगो को यह सर्टिफिकेट बनवाना पड़ता है और 2019 के बाद गाड़िया खरीदने पर PUC सर्टिफिकेट कम्पनी की तरफ से बना दिया जाता है | इसको केवल आपको डाउनलोड करना होता है |PUC सर्टिफिकेट के लिए कैसे आवेदन करना है कैसे इसका आवेदन करना है | कहाँ से आवेदन होगा | कितना खर्चा आएगा | इस लेख में हम इ सभी चीजों के बारे में बात करेंगे |

यह भी पढ़ें – UP Labour Regestraition 2021:रोजगार कार्ड आवेदन करें

कितने दिनों तक PUC वैध रहता है ;How Many Days PUC Certificate is Valid :

जैसा कि पहले उल्लेख किया गया है| नए वाहन एक वाहन PUC प्रमाण पत्र के साथ आते हैं, जो एक वर्ष के लिए वैध है| जिसके बाद यह सरकार के दिशानिर्देशों के अनुसार नवीकरण के अधीन है। पुराने वाहनों के लिए पीयूसी सर्टिफिकेट की वैधता: पुराने वाहनों के लिए पीयूसी सर्टिफिकेट की वैधता 6 महीने होती है। प्रतिकूल रीडिंग के मामले में, वैधता की समय सीमा दर्ज की गई प्रदूषण के स्तर पर निर्भर करेगी। | BS4 गाड़ियों के लिए यह एक साल तक वैलिड रहता है | यह सर्टिफिकेट आपको गाड़ियों के PUC TEST के बाद दिया जाता है | PUC का मतलब पॉल्यूशन अंडर कंट्रोल होता है | प्रदूषण की जाँच को ही PUC Test कहते हैं | प्रदूषण सर्टिफिकेट नया पाने के लिए आपको PUC टेस्ट कराकर 60 रु० से 100 रु० देने होंगे |

Nearest Pollution Booth:

बहुत सारे लोगो को यह पता ही होता है | की वह कहाँ से प्रदूषण सर्टिफिकेट बनवाएँ | प्रदूषण सर्टिफिकेट बनाने के सेण्टर प्रत्येक जगह पर होता है | इसके लिए आप अपने नजदीकी पेट्रोल पंप पर जाकर पता कर सकते हैं | यदि वहां भी नही बनता हो तो आप इस लिंक click here पर क्लिक करके अपने नजदीकी प्रदूषण सेण्टर को सर्च कर सकते हैं| यहाँ पर आप अपने राज्य और जिले की डिटेल को भरकर अपने नजदीकी PUC सेंटर खोज सकते है |

प्रदुषण सर्टिफिकेट कैसे बनवाएं ;Process Of Pollution Certificate:

PUC सर्टिफिकेट बनवाने के लिए आपको अपने नजदीकी PUC सेण्टर पर जाना होगा | प्रदूषण की जांच हेतु गैस ऐनालाइजर गाड़ी से एक ऐसे कंप्यूटर को जोड़ा जाता है ,जिसमें कैमरा और प्रिंटर भी जुड़ा रहता है | यह गैस एनालाईजर गाड़ी से निकलने वाले प्रदुषण के आंकड़ों की जाँच करता है | इस सुचना को कंप्यूटर को ट्रांसफर करता है | कंप्यूटर का कैमरा गाड़ी की नंबर प्लेट की फोटो लेता है | अगर गाडी से निश्चित दर पर प्रदूषण निकल रहा होता है; तो उस गाड़ी का प्रदूषण सर्टिफिकेट जारी कर दिया जाता है | यदि प्रदूषण की मात्रा ज्यादा होती है तो इस दशा में PUC सर्टिफिकेट जारी नही होगा | इससे पहले आपको अपनी गाड़ी को मेन्टेन कराना होगा |

यह भी पढ़े – Adhaar Update 2021: बिना मोबाइल के आधार कार्ड सुधारे

ऑनलाइन PUC डाउनलोड ;How To Download Pradushan Certificate:

  • प्रदुषण सर्टिफिकेट को ऑनलाइन डाउनलोड करने के लिए आपको परिवहन विभाग की ऑफिसियल वेबसाइट पर जाना होगा |
  • होम पेज पर आपको मेनू बार में PUC सर्टिफिकेट पर क्लीक करना है |
  • क्लीक करते ही आपके सामने नीचे दिखाए चित्र जैसा पेज ओपन होगा |

  • इसमें आपको अपना रजिस्ट्रेशन नंबर भरना होगा |
  • और चेंसिस नंबर के अंतिम 5 अंको को लिखना है |
  • अब दिखाए गये कैप्चा को भरें |
  • अब PUC डिटेल पर क्लिक करें |
  • क्लिक करते ही आपके सामने प्रदूषण सर्टिफिकेट ओपन हो जाएगा |
  • इसको आप प्रिंट करके इसकी हार्डकॉपी अपने पास रख सकते हैं |

सर्टिफिकेट न होने पर कितना जुरमाना देना होगा; What is fine about PUC:

मोटर वाहन अधिनियम के अनुसार जिस तरह आपके वाहन के पंजीकरण प्रमाणपत्र बीमा विवरण; और वैध ड्राइविंग लाइसेंस को ले जाना अनिवार्य है| उसी तरह आपके वाहन के प्रदूषण को नियंत्रण प्रमाण पत्र के तहत ले जाना भी अनिवार्य है। ऐसा करने में विफलता के लिए आपने मोटर वाहन अधिनियम, 1988 की धारा 190 (2) के तहत मामला दर्ज किया होगा| आपके साथ प्रदूषण प्रमाण पत्र नहीं होने के लिए भारी जुर्माना लगाया जाएगा। वाहन के वैध पीयूसी प्रमाणपत्र का उत्पादन करने में विफलता पर पहली बार अपराधियों के लिए रु० 1,000 का जुर्माना लगता है। समाप्त प्रदूषण (Expire) प्रमाणपत्र के अपराधों के लिए 2,000 रुपये का शुल्क ठीक हैं।

यह PUC सर्टिफिकेट बनवाना क्यों जरूरी है :

प्रत्येक गाडियों का प्रदुषण सर्टिफिकेट बना होना चाहिए | ताकि आस पास की हवा में प्रदुषण कम हो | वाहनों द्वारा जारी उत्सर्जन सीधे आसपास की वायु गुणवत्ता की स्थिति को प्रभावित करते हैं। इसीलिए पर्यावरण पर प्रदूषण के हानिकारक प्रभावों को विनियमित करने के लिए भारत सरकार ने मोटर वाहन अधिनियम, 1988 के तहत वाहन मालिकों के लिए नियमों और दिशानिर्देशों का पालन करने को कहा है | वाहन मालिकों को यह सुनिश्चित करना चाहिए कि उनके वाहन का उत्सर्जन स्तर अनुमेय सीमा के भीतर है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest news

अब ऑनलाइन ऐसे करें अपने कोविड-19 वैक्सीनेशन सर्टिफिकेट संशोधन

0
अगर आपने कोरोना वैक्सीन लगवाने के लिए रजिस्ट्रेशन के दौरान अपना नाम, जन्मतिथि या कोई जानकारी गलत लिख दी है,और आप सोच रहे हैं...

कन्या सुमंगला योजना के तहत लड़की को मिलते हैं 15 हजार...

0
Kanya Sumangala Yojana – यूपी कन्या सुमंगला योजना 2020 यूपी कन्या सुमंगला योजना | Apply Online, Application Form |Kanya Sumangala Yojana | UP Kanya Sumangala...

Must read

आयुष्मान भारत 2021 में नाम कैसे जोड़ें जाने पूरी प्रक्रिया :

देश के 10 करोड़ 74 लाख परिवारों को मुफ्त...

मोबाइल से कैसे देखे Ayushman Bharat Yojana List 2019 में अपना नाम

Ayushman Bharat Yojana List 2019 में एसे देखे अपना...

You might also likeRELATED
Recommended to you

DMCA.com Protection Status