अब उत्तर प्रदेश में स्मार्ट कार्ड की तरह ही मिलेगी आरसी और सारा रिकॉर्ड रहेगा ऑनलाइन

अब उत्तर प्रदेश में स्मार्ट कार्ड की तरह ही मिलेगी आरसी और सारा रिकॉर्ड रहेगा ऑनलाइन

नमस्कार दोस्तों मेरा नाम है अरुन दोस्तों उत्तर प्रदेश सरकार डिजिटलाइजेशन को बढ़ावा देने के लिए ड्राइविंग लाइसेंस के बाद अब वाहनों के रजिस्ट्रेशन प्रमाण पत्र (RC) को भी स्मार्ट कार्ड में परिवर्तित करने जा रही है। परिवहन अधिकारियों का कहना है कि वाहनों की आरसी और ड्राइविंग लाइसेंस DL में काफी फर्जीवाड़ा होता है

आरसी को कागजी झंझट से मुक्त कर माइक्रो लेबल पर लाया जाएगा

दोस्तों  चेकिंग के दौरान आरसी और डीएल के असली व नकली की पहचान करना मुश्किल होता है। ऐसे में आरसी को
कागजी झंझट से मुक्त कर माइक्रो लेबल पर लाया जाएगा। दिल्ली मुंबई समेत कई महानगरों में इसकी शुरुआत
पहले ही हो चुकी है। अब वहां से इस संबंध में जानकारी मांगी गई है।

अभी तक प्रदेश में कागज से आरसी तैयार होती है और इस कारण आरटीओ और पुलिस अधिकारियों को कई बार
असली व नकली आरसी की पहचान करना मुश्किल होता है। ऐसे में स्मार्टकार्ड की तर्ज पर बनने वाली आरसी में
वाहन एवं चालक से संबंधित जानकारी उपलब्ध होने से पूर्व में हुए चालान का रिकॉर्ड हासिल करने में भी मदद मिलेगी।

ऑनलाइन रिकॉर्ड से सड़क पर चेकिंग के दौरान संबंधित परिवहन अधिकारी मोबाइल एप की मदद से वाहन की
सारी जानकारी हासिल कर सकते हैं।

इसे भी पढ़े :-RCऔर DLन होने पर भी अब पुलिस नही कटेगी चालान जाने कैसे

अपर परिवहन आयुक्त गंगाफल ने बताया, ‘स्मार्ट कार्ड की तर्ज पर आरसी जारी करने के खिलाफ कोर्ट में कई
मामले लंबित हैं। जैसे ही न्यायालय का मामला निपटेगा, टेंडर प्रक्रिया पूरी कर ली जाएगी। इस पर शीघ्रता
से काम शुरू किया जाएगा।’

रजिस्ट्रेशन प्रमाण पत्र (आरसी) को स्मार्ट कार्ड में बदलने की पहल इसलिए की गई है ताकि फर्जीवाड़े को रोककर
पारदर्शिता लाई जा सके. माइक्रो लेबल से लैस आरसी के जरिए सारी जानकारी आसानी से हासिल की जा सकेगी

दोस्तों ताज़ा न्यूज़ अपडेट के लिए बने रहे sarkaroidna.com के साथ और अधिक जानकारी के लिए आप हमारे फेसबुक पेज को फ़ॉलो करे

Leave a Comment