अब जनवरी 2020 में ही बनेंगे लोगों के ड्राइविंग लाइसेंस, जानिए वजह

नमस्कार दोस्तों ! अब नए साल में लोगों के ड्राइविंग लाइसेंस बन पाएंगे। क्योंकि नया मोटर व्हीकल एक्ट

चालू होने के बाद से आरटीओ में लाइसेंस बनवाने वाले लोगों की भीड़ लगातार बढ़ रही है। स्थिति ये है

कि दिसंबर की वेटिंग फुल हो गई है। इसके बाद आवेदनकर्ताओं को टेस्ट के लिए जनवरी की तारीख दी

जा रही है। ऐसे में लोगों को भारी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। वहीं कई लोग उच्चाधिकारियों

से फोन कराकर जल्द लाइसेंस बनवाने की गुहार लगा रहे हैं

यह भी पढ़ें :अब बिना fingerprint के नही कर सकेंगे Whatsaap एक्सेस जाने की है स्मार्ट सिक्योरिटी अपडेट

पोस्ट द्वारा नहीं पहुँच रहें ड्राइविंग लाइसेंस

आरटीओ में लाइसेंस का रिन्यूअल कराने के लिए भटकना पड़ रहा है। स्थिति ये है कि तीन महीने बाद

भी लोगों के बाई पोस्ट लाइसेंस नहीं पहुंच रहे है। ऐसे में लोग खुद आरटीओ पहुंचकर लाइसेंस निकलवाने

को मजबूर हैं।

सहस्त्रधारा से आरटीओ पहुंचे आशीष चौहान से बताया कि उन्होंने तीन महीने पहले लाइसेंस रिन्यूअल के

लिए आवेदन किया था। आरटीओ से बताया गया कि उनका लाइसेंस पोस्ट के द्वारा उनके घर पहुंच जाएगा,

लेकिन जब नहीं आया तो वह उसे लेने पहुंचे हैं।

यह भी पढ़ें :1 दिसम्बर तक मिलेगा फ्री में FASTags ,देर किया तो देना होगा 2 गुना टोल

हर व्यक्ति का 10 मिनट का टेस्ट 

ऑनलाइन सिस्टम शुरू होने से पहले परिवहन विभाग में जहां 300 से 400 तक लाइसेंस रोज बन जाते

जाते थे। वहीं अब स्लॉट डेट तय होने के चलते सौ से 150 ही लर्निंग लाइसेंस के लिए बायोमीट्रिक और

फोटो खिंचवाने के अलावा लिखित टेस्ट पास करना होता है। एक टेस्ट में करीब 10 से 15 मिनट लगते हैं।

आरटीओ में आठ कंप्यूटर सेट लगे हैं। इस तरह 15 मिनट में आठ लोग ही टेस्ट दे पाते हैं।

यह भी पढ़ें :मोदी सरकार नोटबंदी के बाद एक और बड़े फैसले की तैयारी में , यहां भी आधार होगा अनिवार्य

नौ सिस्टम और लगाये जायेंगे 

आरटीओ अरविंद पांडेय ने बताया कि लोगों की लगातार भीड़ बढ़ती जा रही है और लर्निंग लाइसेंस की

वेटिंग भी जनवरी पहुंच गई है। लोगों की समस्याओं को देखते हुए प्रतिदिन कर्मचारियों के कार्य करने के

समय में इजाफा किया गया है। इसके साथ ही नौ नए कंप्यूटर खरीदने के निर्देश जारी किये गए हैं। नए

सिस्टम आने के बाद वेटिंग रूम में सभी 15 कंप्यूटर लगा दिए जाएंगे। इससे एक समय में आठ की

जगह 15 लोग टेस्ट दे सकेंगे।

यह भी पढ़ें :सप्ताह के सातों दिन खुलेंगे आधार केंद्र , इस प्रकार लें आधार कार्ड के लिए अपॉइंटमेंट

45 प्रतिशत लोग हो रहे फेल  

नए मोटर व्हीकल एक्ट में जुर्माने की दर बढ़ जाने के बाद लोग लाइसेंस बनवाने तो पहुंच रहे है
लेकिन उन्हें ड्राइविंग लाइसेंस नियमों की जानकारी नहीं है। इसी का नतीजा है कि टेस्ट में 45 प्रतिशत लोग
फेल हो रहे हैं।

ताज़ा न्यूज़ अपडेट के लिए बने रहे sarkaridna.com  के साथ और अधिक जानकरी के लिए आप

हमारे फेसबुक   को फ़ॉलो करे और साथ ही हमारे पेज को शयेर करने के लिए क्लिक करे

Leave a Comment