PM आवास योजना के 6 lakh लाभार्थियों को नोटिस जारी,

0
695

प्रधानमंत्री आवास योजना अंतर्गत मिलने वाले आवास के लाभार्थियों ने अभी आवास को पूरी तरह से पूरा किया है! सरकार ने ऐसे सभी लाभार्थियों को नोटिस भेजा है की वो PMAY के तहत मिलने वाले आवासों को जल्दी से बनवा लें! अगर समय रहते आवास निर्माण कार्य नही पूरा होता है तो उन पर कार्रवाई की जाएगी! ये वो लोग हैं जिन्हें सरकार की ओर से पहली या दूसरी किस्त मिल चुकी है, लेकिन निर्माण कार्य अधूरा रह गया है. उन्हें जल्द से जल्द निर्माण कार्य शुरू करने के निर्देश दिए गए हैं। अगर दूसरी किस्त भी ले ली है तो घर का काम पूरा करें!

PMAY आवास योजना अंतर्गत कितना और कैसे मिलता है लाभ

प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत लाभार्थी को तीन किस्तों में पैसा दिया जाता है। इस योजना के तहत प्रत्येक लाभार्थी को एक लाख 20 हजार रुपये और उग्रवाद प्रभावित जिलों में एक लाख 30 हजार रुपये पक्के मकान निर्माण के लिए अनुदान राशि के रूप में दिए जाते हैं। इनमें से 60 प्रतिशत केंद्र सरकार और 40 प्रतिशत राज्य सरकार प्रदान करती है! ये आंकड़ा राज्य और केंद्र के बीच हमेशा चलता है!

PMAY का लक्ष्य 

ग्रामीण क्षेत्रों के विकास के लिए विभाग ने सुचना दी की इस योजना के तहत वित्त 2016-17 के वित्त वर्ष से लेकर 2020-21 तक लगभग 32 LAKH 60 हजार तक आवास बनाने का टारगेट किया गया था! लेकिन अभी तक केवल 26 lakh 87 हजार आवास ही बन सकें हैं! इनमे से 26 lakh 50 लोगो को पहली किश्त जारी हो चुकी है! अभी तक पूर्ण रूप से केवल 20 lakh आवास ही बन पाए है! 2022 तक सरकार ने इस लक्ष्य को पूरा करने का निर्णय लिया है!

Click for PMAY Urban Official website- Click Here 

Click for PMAY Gramin Official Website- Click Here 

आवास योजना को पूरा ना करने वालों को भेजी जाएगी नोटिस

किश्त लेकर भी अगर लाभार्थी ने आवास का निर्माण कार्य पूरा नही कराया है तो उनको नोटिस भेजे जाते है! नोटिस दो तरह के होते है – सफ़ेद नोटिस तथा लाल नोटिस!

 

सबसे पहले लाभार्थी को सफ़ेद नोटिस भेजी जाती है इसका मतलब यह है की अधूरा काम जो भी है उसे पूरा कर लिया जाय! अगर तभी काम पूरा नही होता है तो लाल नोटिस भेजी जाती है! इसके बाद भी अगर अधूरा निर्माण कार्य अपूर्ण रहता है! तो उस लाभार्थी को तीसरी बार आगाह किया जाता है की उस पर कानूनी कार्रवाई की जाएगी! राशि की वसूली की जाएगी इसके बाद भी मकान पूरा नही करेंगे तो उस पर कार्रवाई शुरू की जाएगी! उसके बाद लाभार्थी कुछ कर सकेगा! 

यह भी देखें- APY योजना में पायें सालाना 1 लाख 20 हजार रुपये जानिए कैसे 

सुकन्या समृद्धि योजना एवं PPF दोनों में से किसमें मिलेगा अच्छा फायदा 

सरकार ने 2021-22 के वित्त वर्ष में 11.49 लाख आवास बनाने का किया टारगेट 

केंद्र सरकार ने 2021-22 के लिए प्रधानमंत्री आवास योजना (ग्रामीण) के अंतर्गत बिहार में 11 lakh 49 hjar से भी आवास बनाने उद्देश्य बनाया है! विभाग ने इस लक्ष्य को जिलानुसार वितरित करेगा केन्द्र में इस पर चर्चा की जा रही है! बरसात बाद लाभार्थी की पहली किश्त को जारी करने की योजना बनाई गयी है!

कब मिलेगी पहली क़िस्त 

सरकार ने पहली किश्त आवास योजना की मंजूरी मिल जाने के बाद लाभार्थी को तुरंत प्रदान की जाएगी! तत्पश्चात दूसरी किश्त उस समय मिलती है जब उनके आवास का आधार तथा नीव भरी जाती है! तीसरी और आखिरी किश्त आवास बनने के बाद जब खिड़की और गेट तथा छत आदि रखने के वक़्त पर प्रदान की जाएगी! आवास की कुल धनराशि तीन किश्तों में प्रदान की जाती है! 40-40 हजार की राशि तीन बार में करके दी जाती है!

New Update Indira Awas का होगा सर्वे 

2015-16 के वित्त वर्ष में प्राप्त इंदिरा आवास योजना के अंतर्गत मिलने वाले आवास अभी तक लगभग 4 lakh अधूरे हैं! इनको लेकर सभी जिलों को निर्देश भेजा गया है की इंदिरा आवास के लाभार्थी के घर-घर जाकर सर्वे किया जाएगा!

अगर कोई लाभार्थी यह बताता है कि वह निर्माण कार्य नही करा सकते हैं! तो उनसे लिखित रूप में ले लिया जाएगा! और उनका आवास रद्द कर दिया जाएगा!यह पता होना आवश्यक है की 2016-17 से प्रधानमंत्री आवास योजना की शुरुआत हुई थी! इसके पहले इंदिरा आवास योजना के अंतर्गत बिहार राज्य में 25 lakh से भी ज्यादा आवास का निर्माण कार्य पूर्ण कराया गया था!

केंद्र सरकार ने दिया निर्देश

ग्रामीण विकास मंत्री श्रवण कुमार ने बताया की “पीएम आवास योजना” (PMAY) को लेकर जिलेवार निर्देश है की हर हफ्ते पंचायतों में आवास दिवस अनिवार्य रूप से मनाये!

इस दिन लाभार्थियों से मिलकर आवास निर्माण में आ रही समस्या का समाधान किया जाएगा और यह निश्चित कराया जाए की वाई अपने आवास के निर्माण कार्य को आगे बढ़ाएं! अगर तभी उनके आवास निर्माण में कमी आएगी तो श्रवण कुमार खुद इसकी नियमित रूप से जिलावार समीक्षा करेंगे! पदाधिकारियों को को बताया है की वे स्वीकृत आवास का निर्माण जल्दी से पूर्ण करवाएं! जिस लाभार्थी का निर्माण कार्य अभी तक भी अधूरा है उनको नोटिस भेज कर उनपर कार्रवाई शुरू करें!

इन्हें भी पढ़ें- मुख्यमंत्री रोजगार सृजन योजना झारखंड 2021,अभी करें apply

सरकार दे रही है व्यवसाय के लिए कर्ज,जानिए प्रोसेस

प्रधानमंत्री आवास योजना के स्वीकृत आंकड़ा 

 

लक्ष्य 32 lakh 60 हजार 978
स्वीकृत 26 lakh 87 हजार 8630 आवास को
पहली किश्त जारी हुई 26 lakh 51 हजार 489 आवास को
दूसरी किश्त जारी हुई 22 lakh 76 हजार 325
तीसरी किश्त जारी हुई 19 lakh 55 हजार 632
पूर्ण होने वाले आवास 20 lakh 15 हजार 318