नमस्कार दोस्तों ! टेलीकॉम रेगुलेटर TRAI ने गुरुवार को कहा कि ग्राहक 4 से 10 नवंबर के बीच मोबाइल

नंबर पोर्टेबिलिटी के लिए आवेदन नहीं कर पाएंगे. इसकी वजह नई और सरल पोर्टेबिलिटी व्यवस्था को

अपनाया जाना है जो 11 नवंबर से प्रभावी होगा.मोबाइल नंबर पोर्टेबिलिटी (MNP) के द्वारा ग्राहक

मोबाइल नंबर में बदलाव किए बिना ही दूसरे ऑपरेटरमें स्विच कर पाते हैं.

यह भी पढ़ें :Ayushman Bharat Yojna का लाभ कैसे पायें

4 से 10 नवंबर के बीच MNP के लिए नहीं दे सकेंगे आवेदन

पीटीआई (भाषा) की खबर के मुताबिक, भारतीय दूरसंचार नियामक प्राधिकरण (ट्राई) के एक अधिकारी

ने कहा कि नई व्यवस्था के तहत अगर कोई व्यक्ति एक सर्विस एरिया में मोबाइल कंपनी बदलने के लिए

आवेदन करता है तो, इस प्रक्रिया में केवल दिनों का समय लगेगा. वहीं एक सर्किल से दूसरी सर्किल के

लिए नंबर पोर्टेबिलिटी के आवेदन को पांच दिन में पूरा किया जाएगा.

यह भी पढ़ें :NAD registration क्या है कैसे होगा nad registration last date क्या है

नई मोबाइल नंबर पोर्टेबिलिटी व्यवस्था में पूरी प्रक्रिया तेज और सरल होगी. नई व्यवस्था के तहत प्रक्रिया

पूरी होने में कम समय लगेगा. मौजूदा समय सात दिन है. ट्राई ने एक बयान में कहा कि सभी लाइसेंस्ड

सर्विस एरिया (LSAs) में मोबाइल नंबर पोर्टेबिलिटी के लिए 6 दिनों तक ‘नो सर्विस पीरियड’ होगा.

यह भी पढ़ें :Aadhar Card का इस्तेमाल आपकी मर्जी के बिना नहीं कर सकते Bank, बस यहाँ देना है जरूरी

नई व्यवस्था आ रही है जो काफी तेज और सरल होगी

मोबाइल नंबर पोर्टेबिलिटी या MNP एक ऐसी सुविधा है जो टेलीकॉम सब्सक्राइबर्स को अपना मोबाइल

नंबर बदले बिना दूसरे टेलीकॉम ऑपरेटर में स्विच करने की सुविधा देती है. जनवरी 2018 में दूरसंचार

नियामक द्वारा पोर्टिंग चार्ज को 19 रुपये से घटाकर 4 रुपये कर दिया गया था.

ताज़ा न्यूज़ अपडेट के लिए बने रहे sarkaridna.com  के साथ और अधिक जानकरी के लिए आप

हमारे फेसबुक   को फ़ॉलो करे और साथ ही हमारे पेज को शयेर करने के लिए क्लिक करे 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here