अटल पेंशन योजना में हुआ बड़ा बदलाव, जानिए किन लोगों को होगा इसका फायदा

0
9709
Atal pension yojana का कैसे उठा सकते है लाभ
Atal pension yojana का कैसे उठा सकते है लाभ

नमस्कार दोस्तों. अटल पेंशन योजना मई 2015 में चालू की गयी थी यह योजना 18 से 40 साल के सभी लोगों के लिए चालू की गयी थी. इस योजना के अंन्तर्गत अंशधारकों को 60 साल होने पर हर महीने 1000 रूपये से लेकर 5000 रूपये की गारंटी दी जाती थी.

यह भी पढ़ें: निवास प्रमाण पत्र के लिए ऑनलाइन आवेदन कैसे करें ?

पीएफआरडीए ने बैंकों से अटल पेंशन योजना में योगदान राशि कभी भी बदलने को लेकर उठाया अहम कदम 

आप लोग जानते होंगे की अभी तक अटल पेंशन योजना में योजदान की राशी सिर्फ अप्रैल महीने में ही बदली जा सकती थी, लेकिन पेंशन नियामक PFRDA ने अहम कदम उठाया है. अब इसमें योजदान की राशी साल में कभी भी बदली जा सकती है.

यह भी पढ़ें: आय प्रमाण पत्र बनवाने के लिए ऑनलाइन अप्लाई कैसे करें ?

इससे क्या होगा फायदा 

पेंशन नियामक पीएफआरडीए ने बैंकों से अटल पेंशन योजना के अंशधारकों के योगदान राशि में साल

के दौरान किसी भी समय बदलाव के आग्रह को स्वीकार करने और उसके लिए जरूरी कदम उठाने को कहा है.

इस पहल का मकसद योजना को और आकर्षक बनाना है. यह व्यवस्था 1 जुलाई से लागू हो गयी है. इससे पहले, अंशधारकों को केवल अप्रैल माह में योगदान की राशी में बदलाव की आज्ञा थी.

पेंशन कोष नियामक एवं विकास प्राधिकरण (PFRDA) ने एक विज्ञप्ति में कहा, की इस व्यवस्था से APY अंशधारक अपनी आय और APY देने की क्षमता में बदलाव के योगदान राशि को घटा-बढ़ा सकेंगे. यह 60 साल तक योजना में योगदानबनाये रखने के लिए जरूरी है.

यह भी पढ़ें: प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना की 5% लाभार्थियों को नहीं मिलेगी, अगस्त की क़िस्त, जानिए क्या है कारण ?

अटल पेंशन योजना के कितने है अंशधारक 

सूचना के अनुशार नियामक ने सभी बैंकों से 12 महीनों में कभी भी APY अंशधारकों के अनुरोध के अनुशार पेंशन राशि को घटाने-बढ़ाने के बारे में कदम उठाने को कहा है. यह व्यवस्था 1 जुलाई से चालू हो गयी है.

PFRDA के अनुशार हालांकि अंशधारक वित्त वर्ष में केवल एक बार पेंशन योजना में बदलाव कर सकते है. अटल योजना के अंन्तर्गत 2.28 करोड़ अंशधारक जुड़े हुए है.

यह भी पढ़ें: प्रधानमंत्री ग्रामीण आवास योजना में अपना नाम ऑनलाइन कैसे देखें

पीएफआरडीए (PFRDA) ने यह भी कहा है की 1 जुलाई 2020 से APY योगदान

राशि से जुड़े अंशधारक के बचत खाते से स्वतः कटनी शुरू हो गयी है. कोरोना महामारी के कारण योगदान राशी जमा करने पर 30 जून तक के लिए रोंक लगायी गयी थी.

मौजूदा व्यवस्था के अंन्तर्गत अगर APY योगदान अप्रैल-अगस्त 2020 के बीच लम्बित है, वह 30 सितम्बर तक अंशधारकों के बचत खातों से 30 सितम्बर तक स्वत:कट जाएगा और उसके लिए जुर्माना स्वरुप कोई ब्याज नहीं देना होगा.

यह भी पढ़ें:15 अगस्त को मोदी सरकार लांच कर सकती है वन नेशन वन हेल्थ कार्ड योजना

हर महीने देने होंगे 210 रूपये 

मौजूदा नियमों के अनुशार अगर 18 साल की उम्र में योजना से अधिकतम 5000 महीने पेंशन के लिए जुड़ते है तो आपको हर महीने 210 रूपये देने होगे.अगर आप यही पैसा 3 महीने में देते है तो आपको 626 रूपये देने होंगे.

अगर आप 6 महीने में देना चाहते है तो आपको 2139 रूपये देने होंगे. महीने में 1000 रूपये की पेंशन पाने के लिए अगर आप 18 साल की आयु में निवेश करते है तो अआप्को महीने में 42 रूपये देने होगे.

यह भी पढ़ें:BC सखी योजना में कैसे करें रजिस्ट्रेशन, जानिए कैसे

अगर आप इस योजना में कम उम्र में जुड़ते है तो आपको ज्यादा फायदा मिलेगा 

ममन लीजिये कि अगर आप 5 हजार पेंशन के लिए आप 35 साल की उम्र में इस योजना में जुड़ते है तो आपको 25 साल तक हर 6 महीने में 5323 रूपये जमा करने होंगे. ऐसे में आपका कुल निवेश 2.66 लाख रूपये जिसपर आपको 5 हजार की मंथली पेंशन मिलेगी.

अगर आप 18 साल की उम्र से इस योजना में जुड़ते है तो आपका निवेश सिर्फ 1.04 लाख रूपये ही होगा यानी एक ही पेंशन के लिए आपको करीब 1.60 लाख रूपये ज्यादा निवेश करना होगा.

यह भी पढ़ें:बच्चों का भी खुल सकता है PM Jan Dhan बैंक अकाउंट, जानिए कैसे?

इस योजना से जुडी मुख्य बातें 

  1. आप पेमेंट के लिए 3 तरह का प्लान चुन सकते हैं, मंथली निवेश, तिमाही निवेश या छमाही निवेश.
  2. यह निवेश आपको 42 साल तक करना होगा.
  3. 42 साल में आपका कुल निवेश 1.04 लाख रूपये होगा.
  4.  इसके बदले में 60 साल के बाद से आपको आजीवन हर महीने 5 हजार रुपये महीना पेंशन मिलती रहेगी.
  5. इनकम टैक्स के सेक्शन 80CCD के तहत इसमें टैक्स छूट का फायदा मिलता है.
  6.  योजना राष्ट्रीय पेंशन योजना के जरिए पेंशन फंड नियामक और विकास प्राधिकरण संचालित कर रहा है.
  7. अगर 60 साल के पहले या बाद में सदस्य की मौत हो जाती है तो पेंशन की राशि वाइफ को मिलेगी.
  8. अगर सदस्य और वाइफ दोनों की मौत हो जाती है तो सरकार नॉमिनी को पेंशन देगी.
  9. एक सदस्य के नाम से सिर्फ 1 ही अकाउंट खुलेगा। कई बैंकों में अकाउंट खोलने की सुविधा है.

ताजा न्यूज़ अपडेट के लिए बने Sarkaridna.com के साथ और अधिक जानकारी के लिए आप हमारे Youtube videos भी देख सकते है Video देखने के लिएनीचे दिए गये Youtube icon पर click  करे 

sarkaridna Youtube

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here