नमस्कार दोस्तों ! देश में वन नेशन वन Rashan Card योजना अगले साल 1 जून से शुरू होगी. लेकिन

31 दिसंबर, 2019 तक राशन कार्ड को आधार से लिंक कराना जरूरी है. ऐसा न होने पर राशन कार्ड ग्राहक

को बड़ी दिक्‍कत हो सकती है. Rashan Card का Aadhar से लिंक किए जाने के बाद ग्राहक देशभर में

कहीं भी किसी भी राशन की दुकान से अपने हिस्से का राशन का सामान ले सकते हैं.

ग्राहकों का होगा फायदा

आम तौर पर दुकानदार ग्राहक को भगवान मानते हैं, लेकिन सरकारी राशन के दुकानदार ग्राहकों के साथ अच्‍छा

बर्ताव नहीं किया जाता हैं. लेकिन वन नेशन वन राशन कार्ड योजना लागू होने पर PDS

(सार्वजनिक वितरण प्रणाली) ग्राहकों की संतुष्टि सरकारी राशन के दुकानदारों की मजबूरी बन जाएगी.

यानि अगर कोई कोटेदार व्यवहार कुशल नहीं होगा तो PDS लाभार्थी उसके पास न जाकर दूसरे कोटेदार

के पास चला जाएगा. ऐसे में लाभार्थियों को खुश रखना और उनकी संतुष्टि का खयाल रखना कोटेदार के

लिए जरूरी होगा.

2020 से लागू होगी यह योजना

पासवान ने 1 जून, 2020 से पूरे भारत में ‘वन नेशन वन कार्ड’ लागू करने की समयसीमा रखी गयी  है, जिसके

बाद कोई भी Rashan Card धारक देश में कहीं भी राशन की दुकान से अपने हिस्से का अनाज सस्ते दाम

पर खरीद सकता है. देश के करीब 14-15 राज्यों में विभिन्न जगहों पर इसे अमल में लाया जा चुका है.

जानकारी होगी ऑनलाइन 

PDS (सार्वजनिक वितरण प्रणाली) को कंप्यूटराइज करने के बाद सभी Rashan Card धारकों की जानकारी

ऑनलाइन हो गई है और लाभार्थियों को राशन का सामान बांटने के लिए POS (पॉइंट ऑफ सेल) का इस्तेमाल

किया जाने लगा है.

आधार से जुड़ा होगा सिस्‍टम

देश के विभिन्न राज्यों में जहां राशन कार्ड के साथ-साथ ग्राहक के आधार का विवरण ऑनलाइन किया जा चुका है,

वहां POS के जरिए राशन बांटा जाने लगा है और अगले साल 1 जून से पूरे देश में इस प्रणाली को अपनाए.

जाने के साथ ‘वन नेशन वन कार्ड’ लागू हो जाएगा.

दोस्तों ऐसी ही ताज़ा न्यूज़ अपडेट के लिए जुड़े रहे sarkaridna.com के साथ और अधिक जानकरी के लिए

आप हमारे फेसबुक पेज को भी फ़ॉलो कर सकते है पेज को फ़ॉलो करने के लिए क्लिक करे

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here