jhuthi fir se kaise bache,jhuthe case se kaise bache,dhara 482 kya hai in hindi,482 crpc judgement in hindi,crpc 482 quashing in hindi,application under section 482 crpc,jhoote case se kaise bache,jhuthe case se bachne ke upay,482 crpc in hindi,jhutha case hone par kya kre,how to file manhani case in hindi,fake fir se kaise bache,manhani ka case kaise kare,section 482 in hindi,

Jhuthi fir se kaise bache/dhara 482 kya hai

आज कल काफी देखने और सुनने में आता है कि लोग एक दूसरे के ख़िलाफ़ दुश्मनी या जलन में झूठी

एफआईआर फाइल करा देते हैं एक बार केस फाइनल होने के बाद पार्टी का टाइम और पैसा दोनों ही

बर्बाद होता है आज की स्थितियों में मैं आपको बताने वाला हूँ कि अगर कोई आप के ख़िलाफ़ झूठी

एफआईआर फाइल करा देता है

 अपराध दो प्रकार के है 

पहला अपराध 

तो आपको क्या करना चाहिए तो चलिए शुरू करते हैं  अपराध दो तरह के होते हैं एक ट्राई यानी बड़े अपराध जैसे की मर्डर लिए चोरी वगैरह और दूसरे होते हैं नॉन कॉग्निजेबल यानी नॉन सीरियस टाइम यानी छोटे अपराध पब्लिक ऑफिस यानी बड़े अपराध में एफआईआर यानी बस इन्फोर्मेशन रिपोर्ट पायी जाती है

अपराध दूसरा

Jhuthi fir se kaise bache

जबकि नॉन कॉग्निजेबल ऑफेंस में यानी छोटे अपराधों में एनटीआर यानी नॉन कॉग्निजेबल रिपोर्ट फाइल की

जाँच है पब्लिक प्लेस होने की सिचुएशन में पुलिस आपको बिना किसी वॉरंट के गिरफ़्तार कर सकती है

जबकि नॉन कॉग्निजेबल ऑफेंस सुचुवेसन में पुलिस आपको बिना किसी वारंटी गिरफ्तार नहीं कर सकते

है वारेंट के  ख़िलाफ़ एफआईआर बेल ली जाती है तो पुलिस को गिरफ्तार करती है

और फिर लेने के बाद फिर कोर्ट में ट्रायल शुरू होता है चलिए

बात करते हैं कि अगर कोई आपके ख़िलाफ़ झूठी एफआईआर फाइल करा देता है तो आपको  तरीके बाद भी जाती है लेने के बाद सबसे पहला काम आपको ये करना है

jhuthi fir se kaise bache

हाइकोर्ट में अप्लिकेशन- कि आप एक वकील हायर करना है और उसके हेल्प  से आपको हाइकोर्ट में एक

अप्लिकेशन फाइल करनी है  एफआईआर उनके ख़िलाफ़ झूठी पाई गई है तो ज़ाहिर है कि आपके पास

आपकी बेगुनाही के सबूत भी होंगे तो आप अपनी बेगुनाही के सबूत भी अपने साथ अप्लिकेसन के साथ

लगा दीजिये सबूत के तौर पर आप ओडियो वीडियो पर लेटर  कुछ भी लगा सकते

jhuthi fir se kaise bache

झूठी एफआईआर- जैसे कि अगर किसी ने आपके ख़िलाफ़ झूठी एफआईआर फाइल लगा दी है तो अपने चोरी की है तो आप ये जरूर लगा सकते हैं जब चोरी हुई तो आप वहाँ पर थे ही नहीं आप जीस जगह से आप वहाँ का एवीडेंस लगा सकते हैं हाईकोर्ट में जवाब सीआरपीसी सेक्शन पूरे  के तहत अप्लीकेशन देते हैं तो उसके बाद सुनवाई होती है

अगर कोर्ट को लगता है कि आपने जो एविडेंस भेज दिए हैं बिल्कुल सही है आप की बेगुनाही  को साबित

करते हैं तो कोड एफआईआर को कैंसिल करने का आर्डर करती है लेकिन अगर आप कोर्ट में इनका

अविड़ेंसेस नहीं कर पाते जिससे आपकी बिना ही साबित हो तो कौन आपकी एप्लीकेशन को खारिज कर देती है

Jhuthi fir se kaise bache

कार्रवाई कर सकती है – जिसके बाद आपको ऊपर चार्ज  लगाए जाते हैं और आप का ट्रायल शुरू होता है हाइकोर्ट से ऐप्लिकेशन खारिज होने के बाद आज सुप्रीम कोर्ट ने भी अप्लिकेसन दे सकते हैं यहाँ पर ध्यान देने वाली बात यह है

Jhuthi fir se kaise bache

सीआरपीसी सेक्शन- कि अगर कोई आपके ख़िलाफ़ जूठी  अफ़ियार  करा देता है और आप उसके खेलें सीआरपीसी सेक्शन पूरे डे एतु के तहत हाइकोर्ट ने अपनी किशन देते हैं तो जब तक आप काफी हाइकोर्ट में रहेगा पुलिस न तो आपके ऊपर कोई कार्रवाईकर सकती है और ना ही आपको गिरफ्तार कर सकती है हाइपरटेंशन

दोस्तों ऐसी ही ताज़ा न्यूज़ अपडेट के लिए जुड़े रहे sarkaridna.com के साथ और अधिक जानकारी के लिए आप हमारे फेसबुक पेज को फ़ॉलो करे 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here