5 मई से प्रदेश में गाँव-गाँव होगी कोरोना की जाचँ

-

5 मई से प्रदेश में गाँव-गाँव होगी कोरोना की जाचँ 

5 मई से प्रदेश में गाँव-गाँव होगी कोरोना की जाचँ! पूरे देश में कोरोना वायरस की दूसरी लहर ने आतंक मचा रखा हैं! इस समय देश का बहुत बुरा हाल है! न तो अस्पतालों में बेड और ऑक्सीजन सिलेंडर की कमी के चलते लोगो का इलाज भी संभव नही हो पा रहा हैं! कोरोना वायरस (Coronavirus) के लगातार बढ़ते मामलों को देखते हुए दिल्ली सरकार ने सख्त कदम उठाया है!

corona

कोरोना वायरस से निपटने और संक्रमण फैलने से रोकने के लिए! केंद्र सरकार ने शहरी क्षेत्र के बाद अब सरकार
ने ग्रामीण क्षेत्र में भी कोरोना की जाचँ करवाने का आदेश दिया है! जिसके लिए स्वास्थ्य विभाग पांच मई से पांच दिन
तक गांव-गांव में एलटी टीमों को लगाकर कोरोना की जांच कराएगा!

corona

इसके लिए निगरानी समितियों को सक्रिय किया गया है। इस समिति में आशा/आंगनबाड़ी कार्यकर्ता, ग्राम चौकीदार,
कोटेदार शामिल रहेंगे। घर-घर जाकर कोरोना वायरस से होने वाली खांसी, जुकाम, बुखार जैसे लक्षण वाले मरीजों की
तलाश करेंगे और उनकी जांच कराएंगे।

स्वास्थ्य विभाग ने दी 10 लाख एंटीजन किट 

स्वास्थ्य विभाग ने 10 लाख एंटीजन किट उपलब्ध कराई गई है दस लाख से अधिक एंटीजन टेस्ट करके कोरोना की घुसपैठ को गांवों में रोका जाएगा |

10 लाख एंटीजन किट

एंटीजन टेस्ट में जो ग्रामीण कोरोना संक्रमित पाया जाएगा, उसका गांव में ही तत्काल इलाज शुरू किया जाएगा.
कोरोना संक्रमित ग्रामीण को इलाज के लिए दवाई वाली एक कोविड किट और आयुष काढ़ा दिया जाएगा.

क दिन में कम-कम  97 हजार गांवों में कोविड टेस्टिंग की जाएगी.

कोविड टेस्टिंग को लेकर यह देश में अपनी तरह की एक बाड़ी योजना है, जिसके तहत एक दिन में कम-कम  97 हजार गांवों में कोविड टेस्टिंग की जाएगी. गांव – गांव में कोरोना संक्रमित मरीज की तलाश के लिए

रैपिड रिस्पांस टीम

ग्रामीण क्षेत्रों में एंटीजन टेस्ट करने के लिए हर गांव में जाने वाले सभी रैपिड रिस्पांस टीम (RRT) एंटीजेन
किट लेकर जाएगी. टीम गांव में बीमार व्यक्ति का एंटीजन टेस्ट के लिए एंटीजेन किट से कोविड टेस्ट करेंगी.
इस टेस्ट में जो ग्रामीण व्यक्ति पॉजिटिव पाए जाएंगा व जिस ग्रामीण में कोविड के लक्षण होंगे, उन्हें मेडिकल प्रोटोकॉल
का मुताबिक उपचार दिया जाएगा.

संक्रमित मरीजों को घर पर मिलेंगी सभी जरुरी सुविधाएँ 

ऐसे ग्रामीण मरीजों को इलाज के लिए एक मेडिकल किट दी जाएगी, जिसमें कोविड का इलाज करने वाली दवाएं होंगी.

ऐसे मरीजों का निगरानी समिति लगातार ध्यान रखेगी और आवश्यकतानुसार कोविड से संक्रमित मरीज को अस्पताल में एडमिट कराने की व्यवस्था भी जाएगी अथवा उसे क्वारंटाइन किया जाएगा.

होम आइसोलेशन में ऐसे मरीजों का कैसे इलाज किया जाएगा

होम आइसोलेशन में ऐसे मरीजों का कैसे इलाज किया जाएगा, यह भी बताया जाएगा. कोविड संक्रमित हर शहरी और ग्रामीणों क्षेत्र के मरीज को मेडिकल किट देने के लिए भी दस लाख मेडिकल किट की व्यवस्था की गई है! नई गाइडलाइन के मुताबिक, हल्के लक्षण या बगैर लक्षण वाले मरीज जिनको कोई दूसरी बीमारी नहीं है वे घर पर होम आइसोलेशन में रहते हुए अपना इलाज करा सकेंगे, इसके लिए पहले डॉक्टर की अनुमति जरूरी है!

 अधिक जानकारी के लिए नीचे दिए गये लिंक पर क्लिक करें
  https://www.who.int/

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest news

APY योजना में पायें सालाना 1 लाख 20 हजार रुपये जानिए...

0
अटल पेंशन योजना (APY) न्यू अपडेट कभी-कभी लोग अपनी आप में व्यस्त रहते हैं, लेकिन वे इस बात पर हंसते हैं कि बुढ़ापा कैसे व्यतीत...

कन्या सुमंगला योजना के तहत लड़की को मिलते हैं 15 हजार...

0
Kanya Sumangala Yojana – यूपी कन्या सुमंगला योजना 2020 यूपी कन्या सुमंगला योजना | Apply Online, Application Form |Kanya Sumangala Yojana | UP Kanya Sumangala...

Must read

आयुष्मान भारत 2021 में नाम कैसे जोड़ें जाने पूरी प्रक्रिया :

देश के 10 करोड़ 74 लाख परिवारों को मुफ्त...

मोबाइल से कैसे देखे Ayushman Bharat Yojana List 2019 में अपना नाम

Ayushman Bharat Yojana List 2019 में एसे देखे अपना...

You might also likeRELATED
Recommended to you