2.5 करोड़ छोटे व्यापारियों को MSME के जरिये होगा फायदा,सरकार ने किया बड़ा फैसला

0
88

हां दोस्तों सरकार ने यह बड़ा फैसला किया है! अब रिटेल और होलसेल व्यापारियों को MSME के दायरे में लाने का निर्णय किया है! इस का फायदा लगभग 2.5 करोड़ से ज्यादा व्यापारियों को होगा!इस फैसलें से रिटेल कारोबारियों को बैंक से भी प्रायोरिटी सेक्टर लैंडिंग का फायदा मिलेगा! फुटकर तथा थोक विक्रेता को सूक्ष्म और लघु और मझोले उपक्रम MSME के दायरे में लाने के सरकार के! इस फैसलें से उद्योग संगठनों ने एतिहासिक करार दिया है!सरकार का कहना है!की फुटकर और थोक विक्रेता को भी अब बैंकों तथा वित्तीय संस्थानों से! प्राथमिकता प्राप्त कैटगरी लोन उपलब्ध हो सकेगा!

MSME Mantri Nitin Gadkari Statement

शुक्रवार को नितिन गडकरी ने बताया की फुटकर और थोक व्यापार को भी अबसे MSME के अंतर्गत लोन दिया जाएगा!इससे यह क्षेत्र रिजर्व बैंक के दिशा निर्देश पर बैंको को प्राथमिकता प्राप्त श्रेणी के अंतर्गत ऋण का लाभ ले सकेंगे!

उद्योग संगठनों ने इसको एतिहासिक फैसला बताते हुए कहा की इससे महामारी के कारन आने वाली मुश्किलों सामना कर रहे व्यापारियों को थोडा आराम मिलेगा!

Retailers Association of India

RAI ने कहा की ऐसे खुदरे सूक्ष्म,मझोले और लघु उपक्रम MSME को अपने पुनरुध्वार, बचाव और आगे बढ़ने के लिए जरूरी समर्थन मिल सकेगा! RAI के मुख्य कार्यपालक अधिकारी (CEO) कुमार राजगोपालन ने कहा की ” इस एतिहासिक फैसलें का एरिये पर संरचनात्मक प्रभाव पड़ेगा! इससे क्षेत्र बेहतरी के और भी विकल्प उपलब्ध हो सकेंगे! जिसे चलते इस फैसलें का क्षेत्र और विकसित हो सकेगा!

CAIT Statement

कन्फ़ेडरेशन ऑफ आल इंडिया ट्रेडर्स यानि CAIT का कहना है की सरकार के इस फसलें के बाद से व्यापारी वर्ग MSME की श्रेणी में आएँगे और उन व्यापारियों को बैंकों तथा वित्तीय संस्थानों से प्राथमिकता प्राप्त क्षेत्र के अंतर्गत कर्ज जुटाने में मदद मिलेगी! CAIT के राष्ट्रीय अध्यक्ष BC भारतीय तथा महासचिव Praveen Khandelwal ने कहा है की इसके अलावा व्यापारियों को अन्य sarkari योजनाओं के लाभ भी प्राप्त हो सकेंगे! जो अभी तक MSME केटेगरी को मिलते रहे हैं!

प्रवीण जी यह भी कहा है की कोविद महामारी से प्रभावित व्यापारी बैंको से आवश्यक धन इकट्ठा करके! अपने व्यापार को चला रहे है! गडकरी ने शुक्रवार को ट्विट करके बताया की MSME को मजबूत करने और उसे वृद्धि का इंजन बनाने पर प्रतिबद्ध है! परिवर्तित दिशानिर्देशों से 2.5 करोड़ खुदरे और थोक व्यापरियों को अच्छा फायदा प्राप्त होगा!

इन्हें भी पढ़ें- PM आवास योजना के 6 lakh लाभार्थियों को नोटिस जारी,

MSME में रजिस्ट्रेशन के लिए इसकी ऑफिसियल वेबसाइट पर जाएँ- Click Here 

करोड़ो व्यापारियों को लोन लेने में मिलेगी मदद 

प्रधानमंत्री मोदी जी ने ट्विट करके कहा कि हमारी सरकार ने खुदरा और थोक व्यापार को MSME में शामिल करने के लिए एक ऐतिहासिक कदम उठाया है! इससे हमारे करोड़ों व्यापारियों को आसानी से कर्ज मिल सकेगा! उन्हें और भी कई लाभ प्राप्त होंगे और उनके व्यापार को भी बढ़ावा मिलेगा! हम अपने व्यापारियों को सशक्त बनाने के लिए प्रतिबद्ध हैं!ऑफिसियल report के मुताबिक 250 करोड़ तक का कारोबार करने वाले व्यापारियों पर जल्दी प्रभाव पड़ने वाला है!वे आत्मनिर्भर भारत कार्यक्रम के तहत घोषित विभिन्न योजनाओं के तहत तत्काल ऋण प्राप्त कर सकेंगे। खुदरा और व्यापार संघों ने भी इस कदम का स्वागत किया है और कहा है कि इससे उन व्यापारियों को मदद मिलेगी जो कोविड-19 से बुरी तरह प्रभावित हैं, उन्हें वह पूंजी मिल सकेगी जिसकी उन्हें सख्त जरूरत है!