ऐसे बचाए अपने मोबाइल को वायरस के अटैक से

0
175

मुख्य रूप से वायरस आपके फोन में बैठे चोर ही होते हैं

दोस्तों मेरा नाम है अरुन और हम इस पोस्ट लाये है कुछ जानकरी जिसे पढ़कर आप अपने फ़ोन को वायरस अटैक से बचा सकते है

आप स्मार्टफोन का उपयोग करते हैं तो जाहिर है हमेशा यही कोशिश करते हैं

कि फोन में किसी तरह वायरस न आ जाए।

ये वायरस न सिर्फ फोन को नुकसान पहुंचाते हैं बल्कि आपके फोन से डाटा चोरी करने का भी कार्य करते हैं।

मुख्य रूप से वायरस आपके फोन में बैठे चोर ही होते हैं

जो डाटा में सेंध लगाने की कोशिश करते रहते हैं।

ऐसे में जरूरी है कि आप थोड़ा सतर्क रहें और वायरस को आने से रोकें।

फोन में वायरस हमारी और आपकी गलतियों से ही आते हैं।

आगे हमनें कुछ ट्रिक्स सुझाए हैं जिनके माध्यम से आप फोन में आने वाले वायरस को रोक सकते हैं।

 मोबाइल में हमेशा पिन पैटर्न से रखे प्रोटेक्ट

फोन को वायरस से बचाने का सबसे पहला तरीका है कि हमेशा पिन पासवर्ड से उसको प्रोटेक्ट रखें। हो सके तो ऐप्स को भी अलग से प्रोटेक्ट करें।

अनजान किसी भी लिंक पर​ क्लिक न करें

आपके फोन में अक्सर मैसेज और मेल आते हैं जिन्हें आप जानते नहीं।

उस पर अजीब सा लिंक भी होता और क्लिक करने के लिए प्रेरित करता है। इन मेल और लिंक पर कभी भी क्लिक न करें। ये वायरस ही होते हैं।

 ऐप डाउनलोड हमेशा किसी रजिस्टर्ड स्टोर से करे

एंडरॉयड फोन में आप कहीं से भी एपीके डाउनलोड कर ऐप्लिकेशन इंस्टॉल कर लेते हैं जबकि यह गलत है।

इससे भी भारी मात्रा में फोन में वायरस आते हैं।

आप कोशिश करें कि विश्वासी स्टोर से ही ऐप डाउनलोड करें।

आप एंडरॉड फोन में गूगल प्ले स्टोर से ऐप डाउनलोड कर तो बेहतर है।

इतना ही नहीं किसी अनजान पीसी से भी अपने फोन को कनेक्ट कर करें।

इससे भी भारी मात्रा में वायरस आते हैं।

 एक बार डाटा को करें एन्क्रिप्ट

वायरस से बचाने के लिए आप अपने फोन डाटा को एन्क्रिप्ट भी कर सकते हैं। फोन एन्क्रिप्शन का विकल्प आपको सेटिंग में जाकर सिक्योरिटी में मिलेगा।

किसी भी ओपेन वाईफाई से कभी न करें कनेक्ट

आप वाईफाई सर्च करेंगे तो एक साथ कई वाईफाई आपको दिखाएगा।

इसमें कुछ वाईफाई तो पासवर्ड प्रोटेक्ट होते हैं जबकि कुछ आपको ओपेन दिखाई देंगे। ये वाईफाई तुरंत कनेक्ट हो जाते हैं।

वास्तव में ये वायरस होते हैं जो आपके फोन से डाटा चोरी करने का कार्य करते हैं।

इनसे अपने फोन को कनेक्ट न करें।
फोन अपडेट से होते हैं ये 5 फायदे

6. एडल्ट ऐप को कहें ना

एडल्ट ऐप भी फोन में वायरस भेजने का मुख्य स्त्रोत हैं। इसलिए या तो इन ऐप को डाउनलोड ही न करें या फिर डाउनलोड से पहले जांच लें।

वहीं ऐप पर्मिशन पर भी ध्यान दें​ कि यह कॉन्टैक्ट, मैसेज और मेल तो ऐक्सेस नहीं कर रहे हैं।

दोस्तों ऐसी ताज़ा जानकारी के लिए जुड़े रहे हमारे साथ और ताज़ा न्यूज़ अपडेटेड के लिए आप हमारे फेसबुक पेज पर जाने के लिए क्लिक करे

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here