दोस्तों सरकारी डीएनए में आप सभी बहुत-बहुत स्वागत है दोस्तों अगर आप ट्रेन से अपना सफर
तय और या फिर आप ट्रेन से यात्रा करने के बारे में सोच रहे है तो हमारी आज की पोस्ट में हमट्रेन में बिना टिकट यात्रा करने पर नहीं पकड़ सकेगी ये पुलिस बस जान ले ये नियम इसे ही महत्पूर्ण बातो पर बात करने वाले है दोस्तों भरतीय रेलवे बोर्ड आम जनता के सफर कोसफल और सुविधाजानक बनाने के लिए हमेशा आगे रहता है और आम जनता को किसी बात से परेशानी ka सामना न करना पड़े

इसे भी पढ़े :बस एक कॉल से होगा आपका रेलवे टिकट कैंसिल

ये भी दोस्तों कई बारे ऐसा होता की हम ट्रेन से अपनी यात्रा कर रहे होते और हमको भरतीय रेलवे बोर्ड के द्वारा जारी नियमो के बारे में पता नही होता है और हमको ऐसे में परेशानी ka सामना करना पड़ता है क्युकी ऐसे ही एक नियम के बारे में हम आपको बता रहे हैं. आपको बता दें कि आरपीएफ को चलती ट्रेन या फिर प्‍लेटफार्म पर टिकट चेक करने
का अधिकार नहीं है. यह काम केवल टीटीई ही करेगा.

बिना ट्रेन टिकट यात्रियों पर जुर्माना लगाने का अधिकार किसको है 

सिर्फ अधिकृत टिकट चेकिंग स्‍टाफ को ही है. आमतौर पर ट्रेनों में और प्‍लेटफार्म पर रेलवे पुलिस
टिकट चेक करके भोले-भाले लोगों से उगाही करती है. ट्रेनों की जनरल बोगी में यह आए दिन का
खेल है. जमकर उगाही चलती है और रेलवे प्रशासन उनका कुछ नहीं कर पाता.

जाने किसको होता ट्रेन टिकट चेक करने का अधिकार 

कौन कर सकता हैं टिकट चेक- आपकी यात्रा के दौरान ट्रैवल टिकट एग्जामिनर (TTE) ही आपकी
टिकट जांच सकता है. रेलवे की ओर से जारी नियम बताते हैं कि रात 10 बजे के बाद TTE भी आपको
डिस्टर्ब नहीं कर सकता है.

क्या होता है  ट्रेन टिकट चेक करने का समय 

दोस्तों  टीटीई को सुबह 6 से रात 10 बजे के बीच ही टिकटों का वेरिफिकेशन करना जरूरी है,रात में सोने के
बाद किसी भी पैसेंजर को डिस्टर्ब नहीं किया जा सकता. यह गाइडलाइन रेलवे बोर्ड की है, हालांकि, रात को
10 बजे के बाद यात्रा शुरू करने वाले यात्रियों पर यह नियम लागू नहीं होता है |

आप कर सकते हैं शिकायत- अगर आपके पास टिकट नहीं है या फिर उसमें कोई दिक्‍कत है तो टीटीई से
ही बात करें. आरपीएफ वाला उसमें कुछ नहीं करेगा. कोई पुलिसकर्मी अगर आपका टिकट चेक करने की जिद
करे या धमकाए तो उसके वरिष्ठ अधिकारी से इसकी शिकायत कर सकते हैं.

ट्रेन जुडी शिकायत कहा और कैसे करे 

इंडियन रेलवे ने भ्रष्टाचार खत्म करने के लिए नंबर जारी किया हुआ है.

रेलवे यूजर 155210 पर फोन करके अपनी शिकायत दर्ज करा सकते हैं.

यहां आप इंडियन रेलवे से जुड़ी किसी भी सर्विस के लिए 24 घंटे शिकायत कर सकते हैं और सलाह दे सकते हैं.

रेलवे के जारी किए एसएमएस नंबर 9717630982 पर भी शिकायत दर्ज करा सकते हैं.

Online शिकायत कैसे करे 

  1. गूगल प्ले स्टोर से इंडियन रेलवे का ऐप ‘इंडियन रेलवे सीओएमएस मोबाइल ऐप’ डाउनलोड करके भी अपनी  शिकायत दर्ज करा सकते हैं.

शिकायतकर्ता सेंट्रलाइज्ड पब्लिक ग्रेविएंस रिड्रेस एंड मॉनिटरिंग सिस्टम की वेबसाइट पर जाकर भी कंप्लेंट
दर्ज करा सकते हैं. यहां शिकायत करने पर आपको कंप्लेंट नंबर मिलेगा. इस नंबर के जरिए आप अपनी
शिकायत पर की गई कार्रवाई को ट्रैक कर सकते हैं.

शिकायतकर्ता रेलवे के ट्विटर पेज [email protected] और फेसबुक पेज facebook.com/RailMinIndia
पर भी अपनी शिकायत दर्ज करा सकते है

हो सकती है कार्रवाई

रेलवे सिक्‍योरिटी से जुड़े एक वरिष्‍ठ अधिकारी ने न्यजू18हिंदी को बताया है कि
अगर कोई पुलिसकर्मी टिकट चेकिंग या जुर्माना वसूलते पाया जाता है तो उसके खिलाफ सख्‍त कार्रवाई की जाएगी
टिकट चेक करने का अधिकार रेलवे पुलिस को कभी नहीं था. इसलिए यदि कोई वर्दीवाला टिकट चेक करता है
तो वह गलत है. इसे बर्दाश्‍त नहीं किया जाएगा.

इसे भी पढ़े :केंद्र सरकार और भारतीय रेलवे बोर्ड ने किया बड़ा ऐलान प्राइवेट ऑपरेटर्स चलाएंगे पैसेंजर ट्रेन

रेलवे के बड़े अधिकारियों को अगर अवैध टिकट चेकिंग की जानकारी मिलती है तो वे आरोपी पर सस्‍पेंड करने
तक की कार्रवाई कर देते हैं. इसलिए अपने अधिकारों को लेकर सचेत रहिए.

  •  रेलवे अधिकारी ने बताया कि मजिस्‍ट्रेट छापे जैसी कार्रवाई के दौरान ही रेलवे पुलिस सिर्फ टिकट चेक करने में
    सहायता कर सकती है. वरना इसके लिए सिर्फ कॅमर्शियल स्‍टाफ अधिकृत है.

ताज़ा न्यूज़ अपडेट के लिए जुड़े रहे sarkaridna.com केसाथ और अधिक जानकारी के लिए हमारे youtube videso और facebook page दोनों फ़ॉलो करे youtube video देखने के लिए नीचे दिये गये आइकॉन पर क्लिक करे 

sarkaridna Youtube

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here