इंडिया पोस्ट पेमेंट बैंक क्या है जानिए इससे जुड़ी 10 काम की बातें

 प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी 21 अगस्त को बहुप्रतीक्षित भारतीय डाक के भुगतान बैंक आईपीपीबी का शुभारंभ करेंगे।
इंडिया पोस्ट पेमेंट बैंक की प्रत्येक जिले में कम से कम एक शाखा होगी तो दोस्तों मेरा नाम मोना शुक्ला है और यह
योजना जो है ग्रामीण क्षेत्रों में वित्तीय सेवाओं पर ध्यान केंद्रित करेगा।

 इंडिया पोस्ट पेमेंट बैंक क्या है :

इंडिया पोस्ट पेमेंट बैंक देश का पहला ऐसा बैंक हैं  जो हमें घर बैठे पैसा निकालने और जमा करने की सुविधा प्रदान करता है।
आप इसमें  1 लाख रुपए तक ही जमा कर सकेंगे।इसके अलावा इंडिया पोस्ट पेमेंट बैंक से आप किसी प्रकार का लोन नहीं ले सकेंगे।
ना तो क्रेडिट कार्ड मिलेगा ना ही FD अकाउंट खोला जाएगा।
 बैंक की 2 शाखाएं पहले से परिचालन में हैं,शेष 648 शाखाए देश सभी के जिले में शुरू की जाएंगी।
 आईपीपीबी 1.55 लाख डाकघर शाखाओं के जरिए ग्रामीण क्षेत्रो के लोगों को बैंकिंगऔर वित्तीय सेवाएं उपलब्ध कराएगा।
 आम बैंक जहां बचत खाते पर लगभग 4 फीसदी ब्याज देते हैंवहीं IPPB बचत खाता पर 5.5

फीसदी ब्याज मुहैया करायेगा 

 अब बैंक में पैसा जमा करने और निकासी के लिए आपको बैंक या एटीएम नहीं जाना होगा।
बैंक से संबंधित सभी सेवाओं के लिए बैंक आपके द्वार आएगा।आपका बैंक आपके द्वार’ मिशन के द्वारा इंडिया पोस्ट पेमेंट बैंक
पूरे देश में घर-घर बैंकिंग सेवाएं पहुंचाने में सक्षम होगा।पेमेंट बैंक सिर्फ सेविंग अकाउंट और चालू खाता की सुविधा ही देते हैं।
लेकिन इंडिया पोस्ट पेमेंट बैंक में तो चालू खाते की सुविधा भी नहीं है।
हालांकि आगे चलकर ये सुविधा जोड़ी जा सकती है।
 सरकार इस साल के आखिरी तक 1.55 लाख डाकघर शाखाओं को

आईपीपीबी सेवाओं से जोड़ने का प्रयास कर रही है।

इससे देश का सबसे बड़ा बैंकिंग नेटवर्क अस्तित्व में आएगा
जिसकी गांवों के स्तर तक मौजूदगी होगी।
इसके अलावा डाकघरों में 3,250 एक्सेस पॉइंट होंगे
और साथ ही 11,000 डाकिए होंगे।ये डाकिए
ग्रामीण और शहरी इलाकों दोनों में घर के दरवाजे पर बैंकिंग सेवाएं उपलब्ध कराएंगे।
डाक सेवकों को आईपीपीबी के फायदे की रकम में से 25 प्रतिशत कमीशन के तौर पर भी दिए जाने की योजना है।
आईपीपीबी को 17 करोड़ डाक बचत बैंक खाते को अपने खाते से जोड़ने की अनुमति है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here