latest news आपकी इंटरनेट प्रोफाइल मात्र 140 रूपये में वर्ल्ड वाइड...

आपकी इंटरनेट प्रोफाइल मात्र 140 रूपये में वर्ल्ड वाइड वेब (WWW)पर बिक रही है

-

आपकी प्रोफाइल को एक सेंट्रल सर्वर पर अपलोड कर बेचा जा रहा है।

क्या आपको पता है कि वर्ल्ड वाइड वेब की ‘काली दुनिया’ में आपकी प्रोफाइल बिक्री के लिए उपलब्ध है।

खास बात है कि न सिर्फ हैकर्स और ठग बल्कि

कंपनियां और मार्केट रिसर्चर भी इस डेटा को खरीद रहे हैं।

आपकी प्रोफाइल को एक सेंट्रल सर्वर पर अपलोड कर बेचा जा रहा है।

हेल्लो दोस्तों मेरा नाम है अरुन और हूँ आज की इस पोस्ट में आपको देने वाले एक ऐसी जानकारी जो आपको नही पता होगी

तो दोस्तों चलिए हम चलते है अपनी पोस्ट पर और बात करते है

की कैसे आप की इन्टरनेट प्रोफाइल  ऑनलाइन नेटवर्किंग में बेचीं जा रही और कितने पैसो में

डार्क वेब में आपकी प्रोफाइल 140 रुपये/दिन में बिक रही है

दोस्तों  क्या आपको अंदाजा भी है कि आपके इस डेटा की कीमत क्या लगी है? मात्र 140 रुपये प्रतिदिन।

जी हा दोस्तों आपकी की इन्टरनेट प्रोफाइल मात्र 140 बिक रही  है

ये प्रोफाइल न सिर्फ हैकर और क्रूक खरीद रहे हैं बल्कि कंपनी और मार्केट रिसर्चर्स भी इस डेटा को खरीद रहे हैं

यूजर्स के चोरी हुए डेटा में पासवर्ड फोन नं. व ईमेल शामिल है

डार्क वेब’ नाम की यह दुनिया रेगुलर ब्राउजर्स के जरिए ऐक्सेस नहीं की सकती।

सिर्फ टॉर जैसे ओपन सोर्स सॉफ्टवेयर जो कि अनजान कम्युनिकेशन की अनुमति देते हैं

उनके जरिए ही डार्क वेब को ऐक्सेस किया जा सकता है।

इंटरनेट के इस छिपे हुए हिस्से में, हैकर्स इंटरनेट यूजर की जानकारी मुहैया करा रहे हैं।

इनमें पासवर्ड, टेलिफोन नंबर और ईमेल आईडी जैसी जानकारियां शामिल हैं।

बता दें कि इन डेटा की तलाश साइबरअटैक वाले लोग करते हैं तो वहीं वो लोग भी जिन्हें मुफ्त में वीडियो स्ट्रिमिंग

सर्विस की तलाश होती है. इस दौरान नॉर्मल यूजर्स इन चीजों के पैसे देते हैं तो वहीं ये उन चीजों को एक तरह से हैक

कर इसका इस्तेमाल करते हैं

हाईप्रोफाइल सिलेब्रिटी जैसे राजनेताओं या बॉलिवुड स्टार के डेटा के है अलग दाम

साइबरसिक्यॉरिटी एक्सपर्ट गौतम कुमावत कहते हैं, ‘रेगुलर यूजर का पासवर्ड आमतौर पर 1 रुपये में ही मिल जाता

है लेकिन हाईप्रोफाइल सिलेब्रिटी जैसे राजनेताओं या बॉलिवुड स्टार के डेटा को 500-2,000 रुपये में बेचा जाता है।

एक्सपर्ट्स का कहना है कि डेटा चोरी के खिलाफ कड़े कानून से ही इस पर रोक लगाई जा सकती है।

सिंगल पासवर्ड इस्तेमाल करना है सबसे बड़ी कमजोरी

बता दें कि हैकर्स का एक ग्रुप जहां डेटा को लीक करता है तो वहीं दूसरा इसे सुरक्षित करता है और तीसरा ग्रुप इसे इकट्ठा कर सेंट्रल सर्वर में भेजता है

जहां से सभी डेटा लीक होते हैं. यहां हैकर्स आसानी से किसी का भी डेटा चुरा सकते हैं

दोस्तों अगर आपको मेरी पोस्ट अच्छी लगी हो तो हमारे फेसबुक पेज लाइक करने के साथ ही शयेर करने के लिए क्लिक करे

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest news

सरकार ने लॉन्च किया Arogya Setu App ये Appबताएगा आपको कोरोना संक्रमण है या नहीं

अरोग्या सेतु COVID-19 के खिलाफ हमारी संयुक्त लड़ाई में भारत के लोगों के साथ आवश्यक स्वास्थ्य सेवाओं को जोड़ने के...

Google देगा Google Shorts से TikTok को टक्कर जल्द यूजर कर सकेंगे यूज़

TikTok की लोकप्रियता को देखते हुए अब YouTube भी 'Shorts' एप को लाने की तैयारी कर रही है। यूट्यूब शॉर्ट्स...

अब सभी किसानों का बनेगा यूनिक पहचान पत्र इन योजनाओं का मिलेगा लाभ | Kisan Unique Identity Card

Kisan Unique Identity Card किसान यूनिक पहचानपात्र ,Farmer Unique Identity Card,Kisan Unique Identity Card, किसान, किसान पहचान पत्र, किसान पहचान...

10 रुपए का टॉकटाइम, प्लान की वैधता खत्म होने के बाद भी 17 अप्रैल तक जारी रहेगी इनकमिंग कॉलिंग की सुविधा

  एयरटेल ने कम आमदनी वाले ग्राहकों के लिए लॉक डाउन में आर्थिक मदद का ऐलान किया है। दरअसल कोरोना...

PPE सूट कोरोना वायरस से डॉक्टर और नर्सों की जान बचाते हैं जाने खासियत ?

PPE सूट कोरोना जाने खासियत ? दोस्तों कोरोना वायरस से आज भारत ही नहीं पूरा वर्ड रुक गया है अभी...

योगी सरकार ने 27 लाख मजदूरों के खाते में ट्रांसफर किए पैसे घर बैठे चेक करे की आपको मिला या नही

कोरोना वायरस के चलते देशभर में 14 अप्रैल तक लॉकडाउन है। इन हालात में उत्तर प्रदेश के गरीब मजदूरों को...

Must read

WhatsApp Ne update Kiya New Disappearing Messages features jaane New Update

नमस्कार दोस्तों सरकारी डीएनए आप सभी का बहुत-बहुत स्वागत...

You might also likeRELATED
Recommended to you

error: Content is protected !!