latest news आधार और पैन के जरिये साइबर अपराध को बढ़ावा...

आधार और पैन के जरिये साइबर अपराध को बढ़ावा :Cyber Crime

-

 

दोस्तों आज के समय में हमारे देश में साइबर अपराध बहुत ही तेजी से बढ़ रहा है | जिसमें कंप्यूटर और नेटवर्क की महत्वपूर्ण भूमिका है | इस साइबर अपराध में आधार कार्ड और पैन कार्ड मेन रोल रहता है | जिसके जरिये साइबर अपराधियों को बढ़ावा मिल रहा है | आधार और पैन के जरिये होने वाले अपराध को रोकने के लिए हम सबको अपने आधार और पैन नंबर को भी एटीएम पिन की तरह अपने पास सुरक्षित रखना होगा | हमें अपने इन दस्तावेजों को कमसे कम किसी दुसरे व्यक्ति से शेयर रन होगा |

कैसे बढ़ रहा है आधार पैन के जरिये साइबर अपराध और कैसे इससे बचा जाए जानने के लिए इस आर्टिकल में कुछ महत्वपूर्ण जानकारी दी गयी जिसको आपको ध्यान में रखना है |

What is Cyber Crime (साइबर अपराध क्या हैं ):

किसी की भी निजी जानकारी को डिजिटल तरीके चोरी कर लेना तथा उसका गलत इस्तेमाल करना ही साइबर अपराध कहलाता है |किसी जानकारी को किसी के कंप्यूटर से निकाल लेना Cyber Crime होता है | कंप्यूटर अपराध भी कई तरह से किये जाते हैं जैसे इनफार्मेशन को चोरी करना,उसमें फेर बदल करके उसका प्रयोग करना तथा उस जानकारी को मिटाना या फिर उसका गलत तरीके से इस्तेमाल करना |

किसी की जानकारी को ऑनलाइन प्राप्त करना या हर वक़्त उस व्यक्ति पर नजर रखना | इस साइबर अपराध में कंप्यूटर और नेटवर्क की महत्वपूर्ण भूमिका रहती है | इन्ही के जरिये डाटा को ऑनलाइन चोरी किया जाता है |

यह भी पढ़ें – New BPL सूची 2021 :बीपीएल सूची में देखें अपना नाम

साइबर अपराध के प्रकार : Kinds of Cyber Crime :

हमारे देश में कई प्रकार के साइबर अपराध हो रहे हैं जो की इस तरह हैं –

  • स्पैम ईमेल (Spam Email)- अनेक प्रकार के ईमेल आते हैं|जिसमें ऐसे भी ईमेल होते है जो सिर्फ आपके कंप्यूटर और फ़ोन को नुकसान पहुंचाते हैं | ऐसे ईमेल को accept करने से आपके कंप्यूटर में खराबी आ जाती है |
  • हैकिंग (Hacking)- किसी की भी निजी जानकारी को हैक करना जैसे की उपयोगकर्ता नाम या पासवर्ड और फिर उसमें फेर बदल करना |
  • साइबर फिशिंग – किसी के पास स्पैम ईमेल भेजना ताकि वे अपनी निजी जानकारी दें | उस जानकारी से उसका नुकसान हो सके |
  • वायरस फैलाना – साइबर अपराधी कुछ ऐसे सॉफ्टवेर आपके कंप्यूटर पर भेजता है | जिसमें वायरस छिपे रहते हैं |इनमें वायरस ,वर्म, टोर्जन हॉर्स , लॉजिक हॉर्स आदि वायरस शामिल रहते हैं | जो आपके कंप्यूटर को हानि पहुंचा सकते हैं |
  • फर्जी बैंक काल– कई फर्जी काल आपके फ़ोन पर आती हैं | जिसमें बोला जाता है की वह बैंक से हैं और आपके एटीएम नंबर और पासवर्ड की मांग करते हैं | यदि आप जानकारी नही देंगे तो आपका खाता बंद हो जाएगा |
  • साइबर बुलिंग – सोशल नेटवर्किंग साइट पर अशोभनीय कमेंट करना धमकियाँ देना ,झूटी अफवाहें फैलाना, किसी का मजाक बनाना आदि साइबर बुलिंग के अंतर्गत आते हैं |

अपनाए साइबर अपराध से बचाओ के तरीके :

  • किसी भी फर्जी काल पर अपनी निजी जानकारी जैसे एटीएम पिन, बैंक डिटेल, पैन नंबर, आधार नंबर आदि को शेयर न करें |
  • अपने कंप्यूटर और फ़ोन पर किसी भी अवैध ईमेल से बचें |
  • किसी भी निजी पासवर्ड को अपने तक ही रखें दुसरो के साथ कभी ना शेयर करें | चाहे वो आपके कितने ही करीबी क्यों ना हो |
  • अधिकारियों की माने तो बहुत सारे साइबर अपराधी जालसाज फोने करके लोगो को लोन स्वीकृत होने की सूचना देता है | और आधार नंबर, पैन नंबर ,या बैंक डिटेल मांगते हैं | इससे बचें |

66 (F):साइबर अपराध के लिए दंड का प्रावधान :

यदि कोई व्यक्ति भारत की अखंडता, सुरक्षा या संप्रभुता को भंग करने या इसके निवासियों को परेशान करता है | उस व्यक्ति को धारा 66 F के तहत दंड दिया जाएगा |बिना किसी अधिकार के जबरन किसी दुसरे के कंप्यूटर प्रयोग करना जान बूझ कर किसी के लिए खतरा पैदा करना, कंप्यूटर वायरस जैसी चीज को डालना | कंप्यूटर से जानकारी को चोरी करना या किसी की जानकारी को हैक करना |

इन सब चीजों के गलत प्रयोग करने पर व्यक्ति को 66 F के तहत कानून की तरफ से दंड दिया जाएगा | उसमें कोई रियायत नही की जाएगी |

 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest news

pan card men correction kaise kren,kaise adhaar link kre:

0
अब बहुत ही आसान तरीके से PAN Card में करें सुधार : PAN Card एक ऐसा दस्तावेज है जो की बैंक से सम्बंधित होता है...

प्रधानमंत्री रोजगार सृजन (PMEGP) योजना ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन 2020

0
प्रधानमंत्री रोजगार सृजन कार्यक्रम योजना PMEGP क्या है  प्रधानमंत्री रोजगार सृजन कार्यक्रम योजना (PMEGP) PM EMPLOYMENT GENRATION PROGRAMME योजना के तहत देश के सभी युवाओं को...

Must read

You might also likeRELATED
Recommended to you

DMCA.com Protection Status